Home अंतर्राष्ट्रीय ट्रकों की हड़ताल से हालात हुए खराब, कनाडा-अमेरिका के बीच कारोबार रुका

ट्रकों की हड़ताल से हालात हुए खराब, कनाडा-अमेरिका के बीच कारोबार रुका

ऑन्टैरियो।  कोरोना महामारी के दौर में कनाडा और अमेरिका इन दिनों एक नए संकट का सामना कर रहे हैं, वजह है ट्रकों की हड़ताल। सैंकड़ों ट्रकों ने ऑन्टैरियो के विंडसर में एंबैसडर ब्रिज को ठप किया हुआ है। यहां से न कोई सामान अमेरिका जा पा रहा है और न आ रहा है। जरूरी चीजों की किल्लत हो गई है। कनाडाई पीएम की अपील भी बेअसर हो रही है। ऑन्टैरियो से लेकर राजधानी ओटावा तक प्रदर्शन हो रहे हैं। 50 हजार से ज्यादा प्रदर्शनकारी ओटावा में डटे हुए हैं। वे पीएम जस्टिन ट्रूडो के इस्तीफे पर अड़े हैं। हालत ये हैं कि ऑन्टैरियो में इमरजेंसी की घोषणा करनी पड़ी है और कोर्ट को दखल देना पड़ा है।

ट्रकों की इस हड़ताल की वजह है कनाडाई पीएम जस्टिन ट्रूडे का एक आदेश। जानकारी के लिए बता दें कि पिछले महीने जारी इस आदेश में कहा गया है कि अमेरिका से आने वाले उन्हीं ट्रक चालकों को कनाडा में एंट्री दी जाएगी। जिन्होंने कोरोना की वैक्सीन लगवा रखी होगी, वरना उन्हें क्वारंटीन होना पड़ेगा। ट्रक चालकों के संगठन इस आदेश का विरोध कर रहे हैं। धीरे-धीरे शुरू हुए इस विरोध ने विशाल रूप ले लिया है। चालकों ने एंबैसडर ब्रिज पर 400 से ज्यादा ट्रक खड़े कर रखे हैं। इसकी वजह से सामान की आवाजाही पूरी तरह ठप है। जरूरी चीजों की किल्लत होने लगी है। रोजाना करोड़ों का नुकसान हो रहा है। कनाडा और अमेरिका के बीच कुल व्यापार का करीब एक-तिहाई इसी ब्रिज के जरिए होता है।

मीडिया रिपोर्ट बताती है कि इस पुल से हर रोज 323 मिलियन डॉलर (2440 करोड़ रुपये) का सामान आता-जाता है। 10 हजार से ज्यादा कमर्शल गाडिय़ों की आवाजाही होती है, लेकिन पिछले दो हफ्ते से सब ठप है।
हालात ऐसे हो गए हैं कि कनाडाई पीएम को अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन को फोन करके हालात की जानकारी देनी पड़ी है। दोनों देश इस संकट का समाधान निकालने में जुटे हुए हैं। प्रदर्शनकारी कनाडाई पीएम ट्रूडो के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं। वो पीएम के उस बयान से नाराज हैं, जिसमें उन्होंने प्रदर्शनकारियों को मुठीभर चिल्लाने वाले लोग’ और ‘स्वास्तिक लहराने वाले’ करार दिया था। इससे न केवल विपक्षी दल बल्कि खुद उनकी लिबरल पार्टी के सांसद भी भडक़ गए हैं।

कनाडा में ट्रक चालकों ने हड़ताल के दौरान अपनी बात मनवाने के लिए अनोखा तरीका भी आजमाया। 11 दिनों तक उन्होंने लगातार 16 घंटे तक ट्रकों को हॉर्न बजाए। हड़तालियों को मनाने की हर कोशिश नाकाम हो रही है। कोई रास्ता न देख ऑन्टैरियो के मेयर ने शुक्रवार को शहर में इमरजेंसी का ऐलान कर दिया। उनका कहना है कि ये प्रोटेस्ट नहीं रह गया है, लोगों ने अवैध कब्जा जमा लिया है। इसके कुछ ही घंटे बाद अदालत ने आदेश जारी करके हड़तालियों से इलाके को खाली करने को कहा है। अनिवार्य कोरोना वैक्सीनेशन के खिलाफ ट्रक चालकों की इस हड़ताल का असर सिर्फ कनाडा तक सीमित नहीं है। ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और फ्रांस में भी इसी तरह के प्रदर्शन शुरू हो गए हैं। वहां भी लोग वैक्सीन के खिलाफ सडक़ों पर उतर रहे हैं।

RELATED ARTICLES

तालिबान का एक और नया फरमान, महिला टीवी एंकर को शो में ढकना होगा चेहरा

काबुल। अफगानिस्तान पर कब्जा जमाने वाले तालिबान ने आज एक और नया फरमान जारी किया है। नए फरमान में कहा गया है कि सभी टीवी...

पेंगोंग लेक पर चीन बना रहा एक और पुल, आसानी से पहुंचा सकेगा भारी हथियार

बीजिंग। भारत और चीन के बीच बॉर्डर गतिरोध दो साल से अधिक से बना हुआ है। इस बीच पैंगोंग लेक पर चीन एक और...

फिनलैंड और स्वीडन जल्द नाटो में शामिल हो सकते हैं

नाटो ने स्पष्ट कर दिया है कि सैन्य संगठन में शामिल होने के लिए यदि फिनलैंड और स्वीडन आवेदन करते हैं तो उन्हें संक्षिप्त और...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

बिग न्यूज:- आगामी 7 जून से गैरसैंण में होगा विधानसभा सत्र, धामी सरकार पेश करेगी अपना बजट, धामी सरकार के बजट पर सभी की...

देहरादून। सात जून से गैरसैंण ( भराड़ीसैंण) में विधानसभा सत्र होगा। इसी सत्र में धामी सरकार अपना बजट भी पेश करेगी। इसके साथ आर्थिक...

कंपनी में डायरेक्टर बनाकर महिला से दुष्कर्म, अश्लील फोटो और वीडिया वायरल करने की धमकी देकर करता रहा ब्लैकमेल

देहरादून। शातिर कारोबारी ने युवती को शादी का झांसा देकर उसके साथ लंबे समय तक शारीरिक संबंध बनाए। युवती का विश्वास जीतने के लिए...

हाईकोर्ट समेत न्यायालयों में ड्रेस कोड में पहाड़ी टोपी शामिल हो

नैनीताल। हाईकोर्ट समेत प्रदेश की न्यायालयों में निर्धारित ड्रेस कोड में पहाड़ी टोपी को शामिल करने को लेकर हाईकोर्ट के अधिवक्ताओं ने जनजागरण अभियान...

कारोबारी महिला के खाते से 12 लाख की ठगी

देहरादून। सेलाकुई में सहगल स्टील, फर्नीचर का कारोबार करने वाली महिला के बैंक खाते से 12.40 लाख रुपये ट्रांसफर हो गए। उनके बैंक खाते...

गोल्ड कप क्रिकेट का आगाज, बाहर धरने पर बैठे पूर्व मंत्री बिष्ट

देहरादून। प्रदेश में राष्ट्रीय स्तर के क्रिकेट टूर्नामेंट गोल्ड कप का आगाज हो गया है। रायपुर स्थित महाराणा स्पोर्ट्स कॉलेज के मैदान में उत्तराखंड...

यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग के पास भूधंसाव से हुआ मार्ग अवरुध्द, जाम में फंसे सैकडों यात्री

देहरादून। यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर राना चट्टी के पास आज  फिर से भू धसाव हो गया, जिसके कारण यहां बड़े वाहनों की आवाजाही अवरुद्ध हो...

तालिबान का एक और नया फरमान, महिला टीवी एंकर को शो में ढकना होगा चेहरा

काबुल। अफगानिस्तान पर कब्जा जमाने वाले तालिबान ने आज एक और नया फरमान जारी किया है। नए फरमान में कहा गया है कि सभी टीवी...

हिमाचल के मुकाबले हर घर पानी पहुंचाने में काफी पीछे है उत्तराखंड, 61 प्रतिशत पर ही रुका आंकड़ा, जानिए क्या है वजह

देहरादून। केंद्र सरकार ने जल जीवन मिशन के तहत उत्तराखंड को 2023 तक सभी 100 प्रतिशत घरों तक पेयजल कनेक्शन पहुंचाने का लक्ष्य तय...

चारधाम यात्रा पर जा रहें हैं तो इस खबर को इग्नोर न करें, पहले पंजीकरण फिर बुक करें टिकट और होटल

देहरादून। चारधाम यात्रा पर जाने के इच्छुक यात्रियों को यह सलाह दी जाती है कि यात्रा के दौरान किसी प्रकार की अव्यवस्था से बचने...

होंठों से लेकर एडिय़ों तक में चमक लाएगा खरबूजा

खरबूजा एक ऐसा फल है जो गर्मी के दिनों में खूब पसंद किया जाता है। खरबूजा उन फलों में से है, जो टेस्टी होने...

Recent Comments