Home बिज़नेस कोल इंडिया लिमिटेड के पास गैर-विद्युत क्षेत्र के लिए है पर्याप्त स्टॉक

कोल इंडिया लिमिटेड के पास गैर-विद्युत क्षेत्र के लिए है पर्याप्त स्टॉक

नई दिल्ली। कोल इंडिया लिमिटेड (सीआईएल) वर्तमान में गैर-विद्युत क्षेत्र (एनपीएस) को प्रति दिन लगभग 3.4 लाख टन कोयले की आपूर्ति कर रहा है, जो इस काल खंड में कंपनी की औसत आपूर्ति है। 37 मिलियन टन (एमटी) से अधिक कोयले खदान निकास के आधार पर सीआईएल का इस क्षेत्र में आपूर्ति को और बढ़ाने का लक्ष्य है। अप्रैल-जनवरी वित्त वर्ष 22 के दौरान एनपीएस को सीआईएल का प्रेषण 101.7 मिलियन टन (एमटी) रहा, जो महामारी मुक्त वित्त वर्ष 20 की इसी अवधि में 94 एमटी की तुलना में 8.2 प्रतिशत अधिक था। यहां तक कि वित्त वर्ष 2019 की तुलनीय अवधि के लिए जब सीआईएल ने अपनी स्थापना के बाद से अब तक का सबसे अधिक कुल कोयला प्रेषण दर्ज किया, एनपीएस क्षेत्र को आपूर्ति में 91.5 मीट्रिक टन की तुलना में 11 प्रतिशत की वृद्धि हुई। इस अवधि के दौरान बिजली क्षेत्र को आपूर्ति की तुलना में एनपीएस ग्राहकों को आपूर्ति में वृद्धि दर अधिक थी। अप्रैल 20-जनवरी 21 में एनपीएस हिस्से में 105 मीट्रिक टन प्रेषण वित्त वर्ष 22 की समान अवधि की तुलना में 3 मीट्रिक टन से थोड़ा अधिक था। कोविड से प्रभावित वर्ष के दौरान प्रेषण में वृद्धि के कई कारण थे।

कोविड की वजह से वित्त वर्ष 2021 के अधिकांश भाग के लिए कोयले की खपत की मांग में व्यवधान देखा गया, सीआईएल ने एनपीएस हिस्से में आपूर्ति को बढ़ाया। इसके अलावा एनपीएस ग्राहकों ने भी कोयले की अधिक मात्रा को उठाने का विकल्प चुना क्योंकि सीआईएल की ई-नीलामी बिक्री वित्त वर्ष 2021 की पहली छमाही के लिए अधिसूचित मूल्य पर सीमित थी। एनपीएस किसी भी वित्तीय वर्ष में घरेलू कोयले के साथ सम्मिश्रण के लिए लगभग 170 मीट्रिक टन कोयले का आयात करता है। लेकिन वित्त वर्ष 22 में असामान्य रूप से उच्च अंतर्राष्ट्रीय कोयले की कीमतें अपेक्षित मात्रा में आयात करने के लिए बाधा के रूप में साबित हुईं, जिससे उसके अंत में कोयले की कमी बढ़ गई। सीआईएल के पास गैर-विद्युत क्षेत्र को आपूर्ति बढ़ाने के लिए पर्याप्त बफर स्टॉक है।

वित्त वर्ष 22 में बिजली उत्पादन में अभूतपूर्व वृद्धि देखी गई है, विकास दर एक दशक में सबसे अधिक है, जिससे राष्ट्रीय प्राथमिकता पर बिजली क्षेत्र की कोयले की मांग को पूरा करने की आवश्यकता है। मजबूत आर्थिक सुधार पर सवार होकर चालू वित्त वर्ष के जनवरी 22 तक कुल कोयला आधारित बिजली उत्पादन में साल-दर-साल की तुलना में 11.2 प्रतिशत की वृद्धि हुई। वहीं, इस अवधि के दौरान घरेलू कोयला आधारित उत्पादन 17 प्रतिशत बढ़ा था। बिजली क्षेत्र को कोयले की आपूर्ति का बड़ा हिस्सा सीआईएल द्वारा प्राथमिकता के आधार पर पूरा किया गया।

अप्रैल-जनवरी 2021-22 के दौरान 14 आयातित कोयला आधारित बिजली संयंत्रों से बिजली उत्पादन में 48 प्रतिशत की कमी आई। परिणामस्वरूप उत्पादन अंतर को पूरा करने के लिए घरेलू कोयला आधारित जनरेटरों को स्वदेशी कोयले की आपूर्ति में वृद्धि की आवश्यकता थी। सीआईएल ने इस अतिरिक्त मांग के लगभग 20 एमटी की आपूर्ति की। दूसरे शब्दों में कहें तो आयात को उस सीमा तक कम कर दिया गया था। बिजली क्षेत्र को कोयले की प्राथमिकता देने और अन्य चुनौतियों का सामना करने के बावजूद सीआईएल ने वित्त वर्ष 22 के जनवरी तक 101.7 एमटी से एनपीएस ग्राहकों को पिछले वर्ष की समान अवधि का 97 प्रतिशत आपूर्ति की।

RELATED ARTICLES

इंडिगो अपने क्षेत्रीय नेटवर्क को बढ़ाने की बना रही योजना, खरीदेगी 100 छोटे विमान

नई दिल्ली। भारत की सबसे बड़ी एयरलाइन इंडिगो 100 छोटे विमान खरीदने की तैयारी कर रही है। कंपनी अपने क्षेत्रीय नेटवर्क को बढ़ाने की योजना...

एक्स की सख्ती- भारत में 1.8 लाख से ज्यादा अकाउंट्स किए बैन

नई दिल्ली। एलन मस्क द्वारा संचालित एक्स कॉर्प ने 26 मार्च से 25 अप्रैल के बीच भारत में 184,241 अकाउंट्स पर बैन लगा दिया।...

सस्ता हुआ LPG सिलेंडर, हवाई ईंधन के दाम बढ़े, देशभर में नई कीमतें आज से लागू

नई दिल्ली। मई के पहले दिन ही राहत की खबर सामने आई है. OMCs ने 19kg वाले कमर्शियल एलपीजी सिलिंडर के दाम 19 रुपए...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

आज हेमकुंड साहिब के लिए ऋषिकेश से रवाना हुआ श्रद्धालुओं का पहला जत्था

25 मई को खुलेंगे हेमकुंड साहिब के कपाट राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह ने श्रद्धालुओं के जत्थे को किया रवाना ऋषिकेश। हेमकुंड साहिब गुरुद्वारा ऋषिकेश से...

आईपीएल 2024- एलिमिनेटर मुकाबले में आज रॉयल चैलेंजर्स बैंगलुरु से भिड़ेगी राजस्थान रॉयल्स

अहमदाबाद। आईपीएल 2024 के एलिमिनेटर मैच में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलुरु की भिड़ंत राजस्थान रॉयल्स के साथ है। यह मुकाबला अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम...

एफपीपीसीए नियम के तहत बिजली के बिल में छह पैसे प्रति यूनिट की होगी बढ़ोतरी

इसी माह से की जाएगी बिजली के बिल में बढ़ोत्तरी  पूरे देश में लागू है एफपीपीसीए का यह नियम  देहरादून। बिजली के दामों के माहवार...

मोदी राज में भारतीय सेना और सीमा दोनों ही सशक्त और सुरक्षित हुए- अनुराग ठाकुर

शिमला। केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण और युवा एवं खेल मामलों के मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने  हमीरपुर संसदीय क्षेत्र में जनसंपर्क अभियान के दौरान...

1 जुलाई से देशभर में लागू होने वाले तीन नए आपराधिक कानूनों के लिए उत्तराखंड पूरी तरह तैयार, जानिए क्या है यह तीन कानून  

 20 जून तक पूरे हो जाएंगे कानूनों की जानकारी के संबंध में सभी प्रशिक्षण देहरादून। पहली जुलाई से देशभर में लागू होने वाले तीन नए...

फिल्म मिस्टर एंड मिसेज माही का दूसरा गाना ‘अगर हो तुम’ जारी, जाह्नवी कपूर और राजकुमार राव की दिखी खूबसूरत केमिस्ट्री

फिल्म मिस्टर एंड मिसेज माही की रिलीज का काउंटडाउन शुरू हो गया है। जान्हवी कपूर और राजकुमार राव अभिनीत रोमांटिक स्पोर्ट्स ड्रामा इस महीने...

दिव्यांग विद्यार्थियों को परीक्षा में मिलेगा अतिरिक्त समय

श्रुत लेखक की भी ले सकेंगे मदद, सरकार ने दी मंजूरी शिक्षा मंत्री डा. रावत ने कहा, दिव्यांग छात्रों को मिलेगी सभी सुविधाएं देहरादून। राज्य सरकार...

हद से ज्यादा आम खाना सेहत के लिए हो सकता है नुकसानदायक

गर्मियों का मौसम आते ही स्वादिष्ट और रसीले फल मैंगो लवर्स की एक्साइटमेंट देखने लायक होती है. फलों का राजा आम अपनी खास तरह...

कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने मनोज तिवारी की चुनाव रणनीति को दिया फाइनल टच 

नई दिल्ली/ देहरादून। कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने उत्तर पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी मनोज तिवारी के प्रस्तावित कार्यक्रमों के संबंध में...

जेजेपी को वोट देने का मतलब अपने वोट को खराब करना- सीएम धामी

खट्टर के नेतृत्व में हरियाणा बहुत आगे बढ़ा- सीएम पानीपत/ देहरादून। उत्तराखण्ड के सीएम पुष्कर सिंह धामी ने करनाल से भाजपा प्रत्याशी मनोहर लाल खट्टर...

Recent Comments