Home ब्लॉग बिना नक्शे-कैलेंडर के भागता वक्त

बिना नक्शे-कैलेंडर के भागता वक्त

शमीम शर्मा

आज मेरे ज़हन में उस नौजवान की छवि उभर रही है जो सडक़ किनारे नक्शे और कैलेंडरों के बंडल लिये बैठा रहा करता। आते-जाते लोग उससे अपना मनपसंद कैलेंडर खरीदते। इन कैलेंडरों में गांधी-नेहरू से लेकर विवेकानंद, सुभाषचंद्र बोस, चन्द्रशेखर, भगतसिंह, लक्ष्मीबाई और फिल्मी हस्तियां माधुरी दीक्षित, सलमान खान तक के चित्र मिलते थे। कुछ कैलेंडरों में सुंदर सीनरी हुआ करतीं तो कुछ में फूल और पहाड़ हुआ करते। कुछ कैलेंडरों में लक्ष्मी-गणेश के चित्र होते तो कइयों में प्यारे-प्यारे बच्चों की तस्वीरें हुआ करतीं। पर अब वह कैलेंडर बेचने वाला दिखाई नहीं देता। पता नहीं वह किस धन्धे में जुट गया पर दीवारें उन कैलेंडरों को याद खूब करती होंगी।

नये साल पर देसी तिथियों वाले कैलेंडर की हमेशा मांग रहा करती। पर ज्यादातर अंग्रेजी कैलेंडर ही बिका करते। हर साल कई लोग तो 31 दिसंबर को यह बताने में जुट जाते हैं कि यह अपना नववर्ष नहीं है। साल भर जिस कैलेंडर का उपयोग करते हैं, उसी का बहिष्कार करने की अपीलें करते हैं। जो लोग वर्ष भर ग्रेगोरियन कैलेंडर को देखकर जन्मदिन और एनिवर्सरी मनाते हैं, उसी का तिरस्कार करते हैं। सत्य तो यह है कि आज की युवा पीढ़ी को पता तक नहीं है कि कौन-सा विक्रमी संवत चल रहा है।

कैलेंडरों की तो ऐसी की तैसी हुई सो हुई पर विज्ञान के विकास के साथ-साथ समय नक्शों को भी खा गया। जीपीएस आने के बाद नक्शे देखने का मौका ही नहीं मिला। बचपन के खेलों में यह भी शामिल था कि नक्शे में बड़े-बड़े शहरों को ढूंढ़ा करते। पर अब नक्शे पुराने ज़माने की चीज़ हो गये हैं। न स्कूल की दीवारों पर टंगे मिलते हैं और न ही घरों में।
चारों ओर गूगल मैप की तूती बोल रही है। इतनी तरक्की होने के बावजूद गूगल मैप अभी भी बताने में असमर्थ है कि प्यार हमें किस मोड़ पे ले आया। पति-पत्नी की लम्बी लड़ाई के बाद एक बात अवश्य कही जाती है कि भाड़ में जाओ। यह भाड़ कहां है किसी नक्शे में नहीं मिला। एक सत्य यह भी है कि जितने अपडेट भारत के नक्शे में हुए हैं, शायद किसी और देश के नक्शे में नहीं हुए होंगे।

एक देशप्रेमी की चेतावनी है कि गूगल मैप इस्तेमाल न करें, स्वदेशी बनें और नुक्कड़ पर स्थित पानवाले या चायवाले से ही रास्ता पूछें।

RELATED ARTICLES

मनुष्य का किंगडम एनिमेलिया!

हरिशंकर व्यास पृथ्वी के ह्यूमन बाड़े मतलब पशुवाद और पशुताएं। बाड़ों में वैयक्तिक तौर पर बिना व्यक्तित्व के व्यक्ति वक्त काटता है। अधिकतम लोग बिना...

खाद्य सुरक्षा बनाम किसान का हित

अजीत द्विवेदी केंद्र सरकार ने गेहूं के निर्यात पर पाबंदी लगाई तो खाद्य सुरक्षा बनाम किसान के हित की सनातन बहस फिर छिड़ गई। निर्यात...

गेहूं बना सिरदर्द

वेद प्रताप वैदिक अभी महिना भर पहले तक सरकार दावे कर रही थी कि इस बार देश में गेहूं का उत्पादन गज़ब का होगा। उम्मीद...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

25 मई तक चारधाम यात्रा रजिस्ट्रेशन बंद, तीर्थ यात्रियों की बढ़ी मुश्किलें

हरिद्वार। उत्तराखंड सरकार ने चारधाम यात्रा के लिए किए जा रहे पंजीकरण को 25 मई तक बंद कर दिया है। सरकार चारों धामों में...

पूर्व डीजीपी के उपान्यास का लोकार्पण, पत्नी एसीएस राधा रतूड़ी ने गाया मांगल गीत

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शनिवार को सर्वे चौक स्थित आईआरडीटी सभागार में आयोजित कार्यक्रम में उत्तराखंड के पूर्व  पुलिस महानिदेशक अनिल रतूड़ी...

राज्यपाल ने आज सेंट जोसेफ एकेडमी के अलंकरण समारोह में किया प्रतिभाग

देहरादून। राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह ने शनिवार को सेंट जोसेफ एकेडमी के अलंकरण समारोह में बतौर मुख्य अतिथि प्रतिभाग किया। उन्होंने युवा छात्रों को...

नहीं थम रहा चारधाम यात्रियों की मौत का सिलसिला, 18 दिन में हो चुकी है 54 यात्रियों की मौत

देहरादून। चारधाम यात्रा में हृदयगति रुकने से यात्रियों की मौत का सिलसिला नहीं थम रहा है। एक दिन पहले शुक्रवार को केदारनाथ व बदरीनाथ में...

केदारनाथ हैलीकॉप्टर यात्रा सेवा देने के नाम पर धोखाधड़ी करने वाला गिरोह हुआ गिरफ्तार

देहरादून। चारधाम हैली टिकट बुकिंग के नाम पर धोखाधड़ी करने वाले साइबर अपराधियों के खिलाफ उत्तराखंड पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स ने बड़ी कार्रवाई की...

राष्ट्रपति पुतिन का दावा- पश्चिमी देशों की ओर से हो रहे हैं साइबर हमले

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा कि यूक्रेन पर सैन्य कार्रवाई के मद्देनजर उनके देश को पश्चिम की ओर से साइबर हमलों का...

बिना ATM कार्ड के निकाल सकेंगे पैसा RBI ने किया नया नियम लागू

अब आप किसी भी बैंक एटीएम (Bank ATM) से बिना कार्ड के पैसा निकाल पाएंगे। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने बिना कार्ड के...

ज्ञानवापी विवाद:- सुप्रीम कोर्ट ने Places of Worship Act पर कही बड़ी बात, कैसे हिंदू पक्ष के लिए राहत

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने ज्ञानवापी मस्जिद के मामले को वाराणसी जिला अदालत को ट्रांसफर कर दिया है। कोर्ट ने कहा कि ज्ञानवापी के...

सोफे को साफ और नया बनाए रखने के लिए अपनाएं ये तरीके

सोफा काफी महंगा आता है, इसलिए एक बार इसे खरीदने के बाद हम सालों-साल इसे बदलने पर विचार नहीं करते। इसके लिए जरूरी है...

जल्द शादी रचाएंगे अभिनेता अभय देओल

बॉलीवुड अभिनेता अभय देओल हाल के दिनों में फिल्मों से अधिक निजी जिंदगी को लेकर सुर्खियों में रहे हैं। सोशल मीडिया पर वह अपने...

Recent Comments