Monday, August 15, 2022
Home राष्ट्रीय यमुना की सफाई मामले में केंद्र नाराज, मंत्री ने ल‍िखा सीएम को...

यमुना की सफाई मामले में केंद्र नाराज, मंत्री ने ल‍िखा सीएम को पत्र तो केजरीवाल सरकार ने तैयार किया ये प्लान

नई दिल्ली। दिल्ली की यमुना नदी की सफाई पर अब तक की सरकारों ने हजारों करोड़ों रुपए खर्च किये हैं। लेकिन यमुना नदी अभी भी मैली की मैली की‌ बनी हुई है। पूर्व की भाजपा और कांग्रेस सरकारों के साथ-साथ दिल्ली की मौजूदा आम आदमी पार्टी सरकार भी यमुना की सफाई पर करोड़ों रुपए खर्च कर चुकी है। लेकिन यमुना की हालत में अभी भी कोई खास सुधार नहीं आया है। यमुना की हालत अभी भी बदतर बनी हुई है। इस पर केंद्र सरकार भी नाराजगी जता चुकी है। इसके बाद अब केजरीवाल सरकार ने यमुना की सफाई को लेकर एक बार फिर से काम तेज करने की तैयारी की है।

यमुना में बहने वाले सीवरेज वाटर को साफ करने के उठाये जा रहे यह कदम
यमुना की सफाई को लेकर दिल्ली जल बोर्ड की ओर से उठाए गए कदमों के बारे में बात की जाए तो अधिकारियों का कहना है कि यमुना में बहने वाले सभी अपशिष्ट जल/नालों को साफ करने के लिए कई अहम कदम उठाए जा रहे हैं।

एजेंसियों द्वारा अपशिष्ट जल का इन-सीटू उपचार शुरू किया गया है और इष्टतम स्तरों पर मौजूदा सीवेज ट्रीटमेंट प्लांटों के बहिस्त्राव मापदंडों में गुणवत्ता सुधार किया गया है। अन्य उपायों के साथ अतिरिक्त एयरोेशन सिस्टम और फ्लोटिंग एरेटर की स्थापना द्वारा सीवेज उपचार संयंत्र की क्षमता को बढ़ाया जा रहा है।

100 फीसदी सीवरेज कनेक्टिविटी की योजनाओं में हुई काफी प्रगति
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में हाल ही में उन सभी प्रोजेक्ट की प्रोग्रेस रिपोर्ट लेने के लिए एक रिव्यू मीटिंग भी की गई थी। इसमें दिल्ली के जल मंत्री के अलावा जल बोर्ड के आला अफसर भी प्रमुख रूप से मौजूद रहे थे। दिल्ली सरकार का लक्ष्य है कि 2023 तक यमुना को साफ और स्वच्छ बना दिया जाएगा।

जल बोर्ड अधिकारियों का कहना है कि दिल्ली में 100 फीसद सीवरेज सेवाओं के विस्तार के लिए बनाई गई कार्य योजनाओं पर तेजी से काम चल रहा है। पूरी दिल्ली में 100 फीसद सीवरेज कनेक्टिविटी प्रदान करने की परियोजनाओं को निर्धारित समय सीमा के भीतर पूरा किये जाने का आश्वासन दिया है।

अधिकारियों ने यह भी जानकारी दी है कि अप्रैल 2021 के बाद सीवरेज सेवा विस्तार के लिए दिल्ली की 55 कालोनियों को अधिसूचित किया गया है। बादली विधानसभा क्षेत्र में अतिरिक्त 12 कॉलोनियों की संख्या 08 जून 2021 को चालू की गई और जिससे कॉलोनियों की संख्या 561 से बढ़कर 573 हो गई है।

डीडीए द्वारा 26 जून 2021 को जारी डीएसटीपी और एसपीएस के लिए भूमि के मानदंडों के संबंध में अधिसूचना लंबित 63 स्थानों पर भूमि आवंटन के लिए परिणाम प्रक्रिया अब डीडीए और दिल्ली के राजस्व विभाग की तरफ से शुरू की जा सकती है। नजफगढ़ ड्रेनेज जोन (जहां जमीन उपलब्ध है) में 08 स्थानों पर कनेक्टेड डीएसटीपी के साथ आंतरिक सीवरेज सिस्टम का अनुमान किया गया है और बोर्ड से प्रशासनिक अनुमोदन की प्रक्रिया में हैं।

उधर, केंद्रीय जल शक्ति मंत्रालय का कहना है कि नजफगढ़ ड्रेन की सफाई से संबंधित प्रोजेक्ट्स को पूरा करने के लिए नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने सिर्फ 2 वर्ष का ही समय निर्धारित किया था लेकिन यह 4 साल की देरी हो जाने के बाद भी प्रोजेक्ट को पूरा नहीं किया जा सका है

जल शक्ति मंत्री ने हाल ही में सीएम केजरीवाल को लिखा था पत्र
इस बीच देखा जाए तो यमुना की सफाई से संबंधित प्रोजेक्ट को पूरा करने में देरी हो रही देरी पर केंद्र सरकार भी नाराजगी जता चुकी है केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को हाल ही में एक पत्र लिखकर अपनी नाराजगी जताई थी।

वहीं, केंद्र ने सीएम केजरीवाल को पत्र के जरिए यह भी आश्वासन दिया कि वह दिल्ली सरकार को हर मुमकिन सहायता उपलब्ध कराएगी और उम्मीद जताई जाती है कि दिल्ली सरकार इस काम को प्राथमिकता देगी।

केंद्रीय मंत्री की ओर से लिखे गए पत्र में यह भी साफ और स्पष्ट किया गया था कि यमुना का केवल 2 फीसदी दायरा ही दिल्ली में आता है लेकिन इसके 80 फीसदी प्रदूषण के लिए दिल्ली जिम्मेदार है।

केंद्र ने दिल्ली को 13 प्रोजेक्ट्स के लिए दी है 2419 करोड़ की राशि
बताते चलें कि केंद्र सरकार की ओर से यमुना की सफाई के लिए दिल्ली सरकार को 13 विभिन्न प्रोजेक्ट्स के लिए 2,419 करोड रुपए की सहायता उपलब्ध कराई है। बावजूद इसके नदी में प्रदूषण का लेवल लगातार बढ़ रहा है। यह सभी प्रोजेक्ट्स अपनी तय समय सीमा से 15 से 27 माह देरी से चल रहे हैं।

18 नालों से हर रोज यमुना में गिरता है 3,500 मिलियन लीटर गंदा पानी
इस बीच देखा जाए तो यमुना नदी में बड़ी संख्या में नालों का गंदा पानी सीधे पहुंच रहा है। बताया जाता है कि दिल्ली के 18 नालों से हर रोज 3500 मिलियन लीटर गंदा पानी बिना ट्रीटमेंट के यमुना में बहाया जाता है। इसके चलते यमुना नदी लगातार गंदे नाले में तब्दील होती जा रही है।

मंत्री शेखावत का‌ कहना है कि वर्ष 2016 में केंद्र सरकार ने 70 मीलियन लीटर प्रतिदिन क्षमता वाले कोरोनेशन पिलर सीवर ट्रीटमेंट प्लांट को वित्तीय मदद देने की पहल की। केंद्र सरकार ने अपने विशेषाधिकारों का प्रयोग करते हुए इस परियोजना पर खर्च होने वाली कुल राशि का 50 फीसद वित्तीय बोझ भी अपने ऊपर पर ले लिया ताकि इसको समय रहते पूरा किया जा सके। लेकिन दिल्ली जल बोर्ड ने इस परियोजना को भी पूरा करने में कोई तेजी नहीं दिखाई। छतरपुर में नौ विकेंद्रीकृत सीवर ट्रीटमेंट प्लांटों के निर्माण को केंद्र ने मंजूरी दी, लेकिन शुरू नहीं किये गये।

 

Source link

RELATED ARTICLES

आजादी के अमृत महोत्सव के तहत राम जन्म भूमि परिसर में फहराया गया तिरंगा

लखनऊ।  आजादी के अमृत महोत्सव के क्रम में राम जन्मभूमि परिसर में भी तिरंगा फहराया गया। परिसर में जगह-जगह राष्ट्रीय ध्वज लगाया गया है।...

शेयर बाजार के दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला का हुआ निधन, पीएम मोदी ने किया शोक व्यक्त

दिल्ली।  शेयर बाजार के दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला का निधन हो गया है। बताया जा रहा है कि उन्होंने रविवार सुबह मुंबई के ब्रीच कैंडी...

अद्भुत होगा सफर जब बादलों में से गुजरेगी आपकी ट्रेन, ये है दुनिया का सबसे ऊंचा चिनाब ब्रिज

नई दिल्‍ली । दुनिया के सबसे ऊंचे चिनाब रेलवे ब्रिज का शनिवार को शुभारंभ हुआ। इस पुल के साथ आजादी के बाद पहली बार श्रीनगर...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर दी भारत को बधाई

अमेरिका। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने 75वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर भारत को बधाई दी।  उन्होंने कहा कि भारतीय-अमेरिकी समुदाय ने अमेरिका को...

CM धामी स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर परेड ग्राउण्ड में ध्वजारोहण कर, पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को विशिष्ट कार्यों के लिए सराहनीय सेवा...

देहरादून।  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर परेड ग्राउण्ड देहरादून में राज्य के मुख्य कार्यक्रम में ध्वजारोहण किया।...

स्वतंत्रता दिवस की 76वीं वर्षगांठ के अवसर पर सीएम धामी ने ध्वजारोहण कर राष्ट्रीय एकता की दिलाई शपथ

देहरादून।  स्वतंत्रता दिवस की 76वीं वर्षगांठ के अवसर पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सुबह सबसे पहले मुख्यमंत्री आवास में ध्वजारोहण किया। इस अवसर पर...

चोट के कारण विश्व चैंपियनशिप से बाहर हुईं सिंधु

 दिल्ली । पूर्व विश्व चैंपियन और भारत की शीर्ष शटलर पुसरला वेंकट सिंधु बाएं पैर में स्ट्रेस फ्रैक्चर होने के कारण विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप...

महिलाओं को चक्कर आने के पीछे हो सकते है ये 10 कारण, जानें और बरतें सावधानी

सिर में अचानक तेज दर्द होना या सिर घूमना, चक्कर आना कहलाता हैं जो कि एक एक सामान्य स्थिति है। कई बार नींद पूरी...

रुबीना दिलैक को माधुरी दीक्षित के सामने डांस करना थोड़ा मुश्किल लगता है

बिग बॉस 14 की विजेता अभिनेत्री रुबीना दिलैक अपने डांस को लेकर उत्साहित हैं लेकिन उतनी नर्वस भी हैं क्योंकि उन्हें बॉलीवुड की च्ीन...

संसद सत्र का बेहतर इस्तेमाल हो

अजीत द्विवेदी संसद का मॉनसून सत्र निर्धारित समय से चार दिन पहले ही समाप्त हो गया। सत्रहवीं लोकसभा में यानी मई 2019 के बाद से...

आजादी के अमृत महोत्सव के तहत राम जन्म भूमि परिसर में फहराया गया तिरंगा

लखनऊ।  आजादी के अमृत महोत्सव के क्रम में राम जन्मभूमि परिसर में भी तिरंगा फहराया गया। परिसर में जगह-जगह राष्ट्रीय ध्वज लगाया गया है।...

मुख्यमंत्री धामी ने विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस’ कार्यक्रम में किया प्रतिभाग

विभाजन की विभीषिका का दर्द सहने वाले 400 सेनानियों को स्मृति चिन्ह देकर किया सम्मानित देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने रविवार को जेसिस पब्लिक स्कूल,...

राज्यपाल ने आईटीबीपी द्वारा आज़ादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर आयोजित ‘‘वॉकथॉन’’ का किया फ़्लैग ऑफ़

देहरादून। राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) ने रविवार को आईटीबीपी द्वारा आज़ादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर आयोजित ‘‘वॉकथॉन’’ का फ़्लैग ऑफ़...

Recent Comments