Tuesday, December 5, 2023
Home उत्तराखंड मुख्यमंत्री धामी से मिली भाजपा नेत्री ऋतु मित्रा, महिला समस्याओं को लेकर...

मुख्यमंत्री धामी से मिली भाजपा नेत्री ऋतु मित्रा, महिला समस्याओं को लेकर सौंपा मांग पत्र, फूलों के बुके की जगह भेंट की पुस्तक

देहरादून। उत्तराखंड भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश सह मीडिया प्रभारी ऋतु मित्रा ने आज मुख्यमंत्री पुष्कर धामी से मुलाकात की। उन्होंने सफल दिल्ली दौरे की बधाई देने के साथ ही सीएम धामी को उनके पिता डॉक्टर आरके वर्मा द्वारा देहरादून के स्वतंत्र संग्राम का इतिहास पर रचित पुस्तक भेंट की। इस मौके पर उन्होंने महिला समस्याओं को लेकर एक मांग पत्र भी CM धामी को सौंपा।

प्रदेश सह मीडिया प्रभारी ऋतु मित्रा ने मांग पत्र के माध्यम से कहा कि प्रदेश सरकार बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान और महिला सशक्तीकरण को लेकर सराहनीय प्रयास कर रही है। बेटियों को भी आगे बढ़ने के समुचित अवसर मिल रहे हैं। इसके बावजूद मैं आपका ध्यान महिलाओं विशेषकर एकल, अनुसूचित जाति-जनजाति की महिलाओं और बेटियों की समस्याओं के प्रति आकर्षित करना चाहती हूं।

उन्होंने कहा अलग राज्य के गठन में मातृशक्ति का अहम योगदान है। इसके बावजूद राज्य गठन के बाद से आज तक प्रदेश में महिला नीति नहीं बनी। ग्रामीण महिलाओं के लिए जीवन स्तर को उठाने और हाशिए पर छूट गयी महिलाओं को विकास की मुख्यधारा में लाने के लिए महिला नीति बहुत जरूरी है। महिला नीति होने से पढ़ाई, कौशल विकास, रोजगार और महिला सशक्तीकरण को बल मिलेगा।

प्रदेश सह मीडिया प्रभारी ऋतु मित्रा ने कहा प्रदेश में पिछले 20 में एकल महिलाओं यानी स्वयंसिद्धा के लिए किसी भी सरकार ने उनकी आर्थिक, सामाजिक और स्वास्थ्य के स्तर पर कोई सर्वे नहीं किया कि उनका जीवन कैसे गुजर बसर हो रही हैं। एकल महिलाओं के लिए सरकार सर्वे करे और सुनिश्चित करें कि एकल महिलाओं की अनदेखी न हो।

प्रदेश सह मीडिया प्रभारी ऋतु मित्रा ने कहा गरीबी और विपन्नता के कारण प्रदेश में हजारों बालिकाओं को स्कूली शिक्षा बीच में ही छोड़नी पड़ती है। ड्रापआउट छात्राओं को दोबारा शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करने के लिए सरकार पहल करे।

उन्होंने सुझाव दिया पर्वतीय क्षेत्रों में आज भी बालिकाओं के लिए उच्च शिक्षा एक कठिन चुनौती है। इंटर कालेज में भी कई समस्याएं हैं। मसलन यदि इंटर कालेज है तो उसमें साइंस नहीं है। ऐसे में यदि बालिका को साइंस लेनी है तो भी उसे आट्र्स ही लेनी पड़ती है। ऐसे ही यदि उच्च शिक्षा हासिल करनी है तो उन्हें दूरस्थ क्षेत्रों में जाना पड़ता है। यदि इन बालिकाओं के लिए ब्लाक स्तर पर डिस्टेंस लर्निंग सेंटर की व्यवस्था हो जाएं तो वो अपनी पढ़ाई जारी रख सकती हैं।

RELATED ARTICLES

धामी कैबिनेट ने कई मुद्दों पर लिए अहम फैसले

देखें, धामी कैबिनेट के निर्णय देहरादून। सोमवार को सचिवालय में हुई कैबिनेट की बैठक में कई फैसले लिए गए। 1-चिकित्सा स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग, उत्तराखण्ड शासन राजकीय...

मुख्यमंत्री ने मुख्यसेवक सदन में 18 जीआई प्रमाण पत्रों का किया वितरण

एक दिन में सर्वाधिक 18 जीआई प्रमाण पत्र प्राप्त करने वाला उत्तराखण्ड बना पहला राज्य राज्य में कुल 27 उत्पादों को मिल चुका है जीआई...

महाराज के प्रचार वाली 12 सीटों पर भाजपा को मिली प्रचंड जीत

देहरादून। मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान के विधानसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी की जीत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नेतृत्व क्षमता, गृहमंत्री अमित शाह और...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

कोविड-19 से कितना अलग है चीन का रहस्यमय बाल निमोनिया?

रंजीत कुमार करीब चार साल बाद एक बार फिर चीन की किसी बीमारी को लेकर दुनियाभर की स्वास्थ्य मशीनरी चिंतित है। चीन में बड़े पैमाने...

धामी कैबिनेट ने कई मुद्दों पर लिए अहम फैसले

देखें, धामी कैबिनेट के निर्णय देहरादून। सोमवार को सचिवालय में हुई कैबिनेट की बैठक में कई फैसले लिए गए। 1-चिकित्सा स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग, उत्तराखण्ड शासन राजकीय...

मुख्यमंत्री ने मुख्यसेवक सदन में 18 जीआई प्रमाण पत्रों का किया वितरण

एक दिन में सर्वाधिक 18 जीआई प्रमाण पत्र प्राप्त करने वाला उत्तराखण्ड बना पहला राज्य राज्य में कुल 27 उत्पादों को मिल चुका है जीआई...

जीएसटी कलेक्शन तोड़ रहा रिकार्ड, 8 महीने के उच्चतम स्तर पर पहुंचा

नई दिल्ली। देश का सकल जीएसटी राजस्व नवंबर में 15 फीसदी बढक़र आठ महीने के उच्चतम स्तर 1,67,929 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। वित्त मंत्रालय...

महाराज के प्रचार वाली 12 सीटों पर भाजपा को मिली प्रचंड जीत

देहरादून। मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान के विधानसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी की जीत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नेतृत्व क्षमता, गृहमंत्री अमित शाह और...

थिएटर्स के बाद अब ओटीटी प्लेटफोर्म नेटफ्लिक्स पर रिलीज हुई अक्षय कुमार की फिल्म मिशन रानीगंज

अक्षय कुमार और परिणीति चोपड़ा की फिल्म मिशन रानीगंज 6 अक्टूबर को सिनेमाघरों में रिलीज हुई थी. फिल्म को दर्शकों का अच्छा रिस्पॉन्स मिला...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यों को जनता ने सदैव सराहा- मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल

कोटद्वार। शहरी विकास मंत्री डॉ प्रेमचंद अग्रवाल ने मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान के विधानसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी की रिकॉर्ड मतों से जीत होने...

टी20 सीरीज- भारत ने ऑस्ट्रेलिया को छह रन से हराकर 4-1 से सीरीज की अपने नाम

नई दिल्ली। भारत ने ऑस्ट्रेलिया को पांच टी20 मैचों की सीरीज के आखिरी मुकाबले में छह रन से हरा दिया। इस जीत के साथ ही...

अमृता आत्महत्या मामले की जांच करेगी एसआईटी

उत्तरकाशी जिले के एक रिसॉर्ट में 30 नवंबर को युवती ने की थी आत्महत्या प्रदेश में अपराधियों के हौसले बुलंद- कांग्रेस उत्तरकाशी। संगमचट्टी क्षेत्र के भंकोली निवासी...

हद से ज्यादा सेब खाने के हैं यह नुकसान, सेहत बनाएगा नहीं बिगाड़ जरूर देगा

हर रोज एक सेब खाने से सेहत अच्छा रहता है. ऐसा इसलिए कहा जाता है क्योंकि यह पोषक तत्व से भरपूर होता है। सेब...

Recent Comments