Sunday, February 5, 2023
Home उत्तराखंड भूस्खलन: रुद्रप्रयाग के झालीमठ में मकान जमींदोज,घर छोड़ भागे लोग 

भूस्खलन: रुद्रप्रयाग के झालीमठ में मकान जमींदोज,घर छोड़ भागे लोग 

रुद्रप्रयाग। तत्लानागपुर के ग्राम पंचायत सारी के राजस्व ग्राम झालीमठ में भूस्खलन का दायरा बढ़ता जा रहा है। रविवार को भूस्खलन से यहां एक मकान जमींदोज हो गया। साथ ही चौक का आधा हिस्सा भी ध्वस्त हो गया है। वहीं, अन्य मकानों में भी गहरी दरारें पड़ गई हैं। खतरे को देखते हुए प्रभावित परिवारों मकान छोड़कर अन्यत्र शरण ली हुई है।

ग्रामीण बीरेंद्र लाल, हरेंद्र कुमार और राकेश कुमार के संयुक्त मकान का एक हिस्सा जमींदोज हो गया। साथ ही मकान के अन्य हिस्से पर चारों तरफ गहरी दरारें पड़ गई हैं। स्थिति यह है कि बुनियाद के साथ दरवाजे व खिड़कियों ने भी अपनी जगह छोड़ दी है, जिससे कभी यह पूरा मकान ढह सकता है। साथ ही चौक का आधा हिस्सा भी भूस्खलन की भेंट चढ़ चुका है।

कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा
पीड़ित राकेश कुमार ने बताया कि बीते 28 फरवरी की सुबह शुरू हुए भूस्खलन के बाद से हालात दिनोंदिन खराब हो रहे हैं। अब, पूरे झालीमठ में जगह-जगह दरारें पड़ गई हैं, जो कभी भी बड़े हादसे का कारण बन सकती हैं। बताया कि बीते सप्ताह भूस्खलन से दो गोशाला व शौचालय ध्वस्त हो गए थे। तब से गांव के अन्य लोगों के घरों में शरण लिए हुए हैं।

पीड़ित हरेंद्र कुमार ने बताया कि प्रभावित क्षेत्र में दिन तो जैसे-तैसे कट रहा है, लेकिन शाम ढलते ही लोग भयभीत हो रहे हैं। अगर, भूस्खलन रात को हुआ तो कहां जाएंगे और अपने बच्चों को कैसे सुरक्षित रखेंगे, इसी सोच से परेशान हैं। बता दें कि यहां 28 फरवरी से हो रहे भूस्खलन के कारण बीरेश चंद्र, उमेश चंद्र, रमेश चंद्र, दिनेश, प्रेम लाल, धीरज लाल आदि प्रभावितों के 67 लोग अपने मकानों को छोड़कर अन्यत्र शरण लिए हुए हैं।

प्रशासन की ओर से प्रभावितों को राहत सामग्री भी मुहैया कराई गई थी, लेकिन जैसे-जैसे धूप की तपन तेज हो रही है, झालीमठ में भूस्खलन का दायरा बढ़ रहा है। इधर, उप जिलाधिकारी अपर्णा ढौंडियाल ने बताया कि राजस्व विभाग को स्थिति का जायजा लेने के लिए कहा गया है। साथ ही प्रभावित परिवारों के विस्थापन के लिए लेकर प्रशासनिक स्तर पर उचित कार्रवाई अमल में लाई जा रही है।

विस्थापन की हो रही मांग 
झालीमठ के 22 परिवार वर्तमान हालातों को देखकर अन्यत्र विस्थापित करने की मांग कर रहे हैं। प्रभावितों का कहना है कि कावेरी गदेरे के दाईं तरफ की पहाड़ी से हो रहे भूस्खलन से पूरी बस्ती खतरे की जद में आ गई है। मिट्टी दरक रही है, जिससे जमीन की अंदरूनी परत भी कमजोर हो रही हैं। भूस्खलन से लोगों के खून-पसीने से लाखों की लागत से बनाए मकान, गोशाला दरारों से पट चुके हैं, जो कभी भी ध्वस्त हो सकते हैं। संवाद

भूस्खलन प्रभावित झालीमठ का सर्वेक्षण किया गया है। विस्थापन ही यहां का एकमात्र उपाय है। इन प्रभावित परिवारों को अन्यत्र विस्थापित करने के लिए प्रशासन के माध्यम से जल्द अन्यत्र भूमि चयन की कार्रवाई की जाएगी।
-डा. दीपक हटवाल, खान अधिकारी रुद्रप्रयाग/चमोली

RELATED ARTICLES

सरकार द्वारा सभी महापुरूषों की जयंतियों को मनाया जा रहा है ,सरकारी तौर पर- रेखा आर्या

दुनिया को एकता के सूत्र में पिरोने का कार्य किया 'संत रविदास' ने- रेखा आर्या देहरादून। आज प्रदेश की कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या संत रविदास की...

भारत के सबसे हैंडसम मुख्यमंत्री का खिताब पुष्कर सिंह धामी के नाम, जानिए सर्वे में कौन मुख्यमंत्री छूटे पीछे

देहरादून। उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी अपनी सरल और सौम्य छवि के लिए काफी लोकप्रिय हैं। लोगों के बीच जाकर उनकी समस्याओं को सुनना...

धाकड़ ध्यानी के दमदार फैसलों पर सीएम धामी की मुहर, पिटकुल MD पद पर मिला एक साल का सेवा विस्तार

ईमादार और पारदर्शी फैसलों से पीसी ध्यानी ने जीता सबका दिल देहरादून। ऊर्जा क्षेत्र में पारदर्शिता और स्वस्थ कार्यप्रणाली प्रबंधन विकसित करने की कवायद में जुटे...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

सरकार द्वारा सभी महापुरूषों की जयंतियों को मनाया जा रहा है ,सरकारी तौर पर- रेखा आर्या

दुनिया को एकता के सूत्र में पिरोने का कार्य किया 'संत रविदास' ने- रेखा आर्या देहरादून। आज प्रदेश की कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या संत रविदास की...

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ का दुबई के अस्पताल में हुआ निधन, 79 साल की उम्र में ली अंतिम सांस

नई दिल्ली। पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ का निधन हो गया है। पाकिस्तान मीडिया के हवाले से यह खबर सामने आई है। मुशर्रफ लंबे...

बगीचे को साफ रखने के लिए इस्तेमाल करें ये 5 टिप्स

घर पर एक अच्छा और सुंदर बगीचा बनाए रखना पर्यावरण के लिए काफी अच्छा होता है। इसके साथ ही यह आपके मानसिक स्वास्थ्य के...

भारत के सबसे हैंडसम मुख्यमंत्री का खिताब पुष्कर सिंह धामी के नाम, जानिए सर्वे में कौन मुख्यमंत्री छूटे पीछे

देहरादून। उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी अपनी सरल और सौम्य छवि के लिए काफी लोकप्रिय हैं। लोगों के बीच जाकर उनकी समस्याओं को सुनना...

बैंक ऑफ बड़ौदा के तीसरी तिमाही के शुद्ध लाभ में 75 प्रतिशत का उछाल

नयी दिल्ली।  सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक ऑफ बड़ौदा ने वर्ष 2022-23 में गत दिसंबर को समाप्त तीसरी तिमाही में 75 प्रतिशत की वृद्धि के साथ...

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में पति- पत्नी समेत दो बच्चों की मौत, आसपास मचा कोहराम, घटना की जानकारी जुटाने में लगी पुलिस

उत्तर प्रदेश। गोरखपुर जिले के गोला थाना इलाके के देवकली गांव में शनिवार की देर रात पति-पत्नी और दो बच्चों की जलने से मौत हो...

धाकड़ ध्यानी के दमदार फैसलों पर सीएम धामी की मुहर, पिटकुल MD पद पर मिला एक साल का सेवा विस्तार

ईमादार और पारदर्शी फैसलों से पीसी ध्यानी ने जीता सबका दिल देहरादून। ऊर्जा क्षेत्र में पारदर्शिता और स्वस्थ कार्यप्रणाली प्रबंधन विकसित करने की कवायद में जुटे...

बॉलीवुड के स्टार कपल रितेश देशमुख और जेनेलिया डिसूजा अपनी शादी की सालगिरह मनाने पहुंचे मसूरी

मसूरी। बॉलीवुड के स्टार कपल रितेश देशमुख और जेनेलिया डिसूजा देशमुख अपनी शादी की सालगिरह मनाने पहाड़ों की रानी मसूरी पहुंचे। ये कपल चार दिन...

फिर बजा पीएम मोदी का डंका, दुनियाभर के नेताओं में रहे टॉप पर- बाइडेन और सुनक काफी पीछे

नई दिल्ली। पिछले साल की तरह इस साल भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता के तौर पर चुना गया है। अमेरिकी...

सरकार में फेरबदल का क्या हुआ?

भाजपा संगठन में जिस तरह फेरबदल की चर्चा थम गई है वैसे ही नरेंद्र मोदी की सरकार में बदलाव और विस्तार की चर्चा भी...

Recent Comments