Monday, August 8, 2022
Home ब्लॉग अग्निपथ क्यों बना कीचड़पथ?

अग्निपथ क्यों बना कीचड़पथ?

वेद प्रताप वैदिक
अग्निपथ को हमारे नेताओं ने कीचड़पथ बना दिया है। सरकार की अग्निपथ योजना पर पक्ष-विपक्ष के नेता कोई गंभीर बहस चलाते, उसमें सुधार के सुझाव देते और उसकी कमजोरियों को दूर करने के उपाय बताते तो माना जाता कि वे अपने नेता होने की जिम्मेदारी निभा रहे हैं लेकिन सत्तारुढ़ भाजपा के नेता आंख मींचकर अग्निपथ का समर्थन कर रहे हैं और सारे विपक्षी नेता उस पर कीचड़ उछाल रहे हैं।

सरकार और फौज अपनी मूल योजना पर रोज ही कुछ न कुछ रियायतों की घोषणा कर रही है ताकि हमारे भावी फौजियों की निराशा दूर हो और उनमें थोड़े उत्साह का संचार हो लेकिन लगभग सभी विपक्षी दलों को यह एक ऐसा मुद्दा मिल गया है, जिसे भुनाने में वे कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। यह तथ्य है कि अग्निपथ योजना के खिलाफ जो जबर्दस्त तोड़-फोड़ देश में हुई है, उसकी पहल स्वत: स्फूर्त थी। उसके पीछे किसी विपक्षी नेता या दल का हाथ नहीं था लेकिन अब आप टीवी चैनलों पर देख सकते हैं कि विभिन्न पार्टियों के कार्यकर्त्ता और नेता हाथ में अपने झंडे लिए हुए नारे लगाते घूम रहे हैं।
ये वे लोग हैं, जिन्हें न तो खुद फौज में भर्ती होना है और न ही इनके बच्चों को फौजी नौकरी पाना है। जिन नौजवानों को फौजी नौकरी पाना है, उनका गुस्सा स्वाभाविक था। हर आदमी अपने जीवन में स्थायी सुरक्षा और सुविधा की कामना करता है। कोई भी नौजवान चार साल फौज में बिताने के बाद क्या करेगा, यह प्रश्न उसे विचलित किए बिना नहीं रहेगा। फौज में जाने को ग्रामीण, गरीब और अल्पशिक्षित नौजवान इसलिए भी प्राथमिकता देते हैं कि उन्हें युद्ध तो यदा-कदा लडऩा पड़ता है लेकिन उनका शेष समय पूरी सुविधाओं और सुरक्षा में बीतता है और सेवा-निवृत्त होने पर 30-40 साल तक पेंशन और मुफ्त इलाज आदि की सुविधाएं भी मिलती रहती हैं और वे चाहें तो दूसरी नौकरी भी कर सकते हैं।

लेकिन यह परंपरागत व्यवस्था दुनिया के सभी प्रमुख देशों में बदल रही है, क्योंकि फौज में कम उम्र के नौजवानों की ज्यादा जरुरत है। सारी फौज के शस्त्रास्त्रों की खरीद पर जितना पैसा खर्च होता है, उससे ज्यादा पेंशन पर हो जाता है। फौज का आधुनिकीकरण बेहद जरुरी है। सरकार के ये तर्क तो समझ में आते हैं लेकिन कितना अच्छा होता कि अग्निपथ की ज्वाला अचानक भडक़ाने की बजाय वह इस मुद्दे पर संसद और खबरपालिका में पहले सर्वांगीण बहस करवा देती।
अब उसकी इस घोषणा का असर जरुर पड़ेगा कि इस आंदोलन में भाग लेनेवाले जवानों को अग्निपथ की नौकरी नहीं मिलेगी। यह आंदोलन ठप्प भी हो सकता है। लेकिर बेहतर तो यह होता कि फौजी अफसर इस योजना को तुरंत लागू करने की घोषणा करने की बजाय इस पर सांगोपांग बहस होने देते और जो भी उत्तम सुझाव आते, उन्हें स्वीकार कर लिया जाता। अग्निपथ को कीचड़पथ होने से बचाना बहुत जरुरी है।

RELATED ARTICLES

कोश्यारी की गलती क्या है?

वेद प्रताप वैदिक महाराष्ट्र के राज्यपाल भगतसिंह कोश्यारी के एक बयान को लेकर महाराष्ट्र के नेता लोग कैसा धमाल मचा रहे हैं ? कोश्यारी ने...

अमित शाह: शिक्षा में क्रांति

वेद प्रताप वैदिक भारत के गृहमंत्री अमित शाह जिस मर्दानगी से शिक्षा में भारतीय भाषाओं के माध्यम का समर्थन कर रहे हैं, आज तक वैसी...

ममता सरकार की दुर्दशा

वेद प्रताप वैदिक प. बंगाल में तृणमूल कांग्रेस की सरकार भयंकर दुर्गति को प्राप्त हो गई है। कोई कल्पना भी नहीं कर सकता था कि...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

राष्ट्रमंडल खेलों के 10वें दिन भारत के मुक्केबाजों ने दिखाया कमाल, मुक्केबाजी में नीतू घणघस और अमित पंघाल ने जीता स्वर्ण पदक

बर्मिंघम। बर्मिंघम में चल रहे राष्ट्रमंडल खेलों के 10वें दिन भारत के मुक्केबाजों ने कमाल कर दिया। पहले नीतू घणघस और फिर अमित पंघाल ने स्वर्ण...

CM धामी ने पीएम मोदी की अध्यक्षता में आयोजित नीति आयोग की शासी परिषद की 7 वीं बैठक में किया प्रतिभाग

नई दिल्ली। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आयोजित नीति आयोग की शासी परिषद की...

ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे पर सौड़पाणी में खाई में गिरकर नवविवाहिता की मौत के मामले में आया नया मोड़, आखिर क्यों पुलिस ने गिरफ्तार किया मृतका...

देहरादून। बीती दो अगस्त की रात ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे पर सौड़पाणी में सेल्फी लेते खाई में गिरकर हुई नवविवाहिता की मौत हो गई थी,  बीते...

देहरादून से मसूरी जा रही रोड़वेड बस अनियंत्रित होकर आईटीबीपी के पास गिरी खाई में

देहरादून।  उत्तराखंड रोडवेज की बस रविवार दोपहर को दुर्घटनाग्रस्त हो गई। बस में करीब 39 यात्री सवार थे। बस देहरादून से मसूरी की ओर आ...

देहरादून में पुलिस ने स्पा सेंटर की आड़ में चल रहे सेक्स रैकेट किया भांडाफोड़, आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

देहरादून। दून के माजरा में स्पा सेंटर की आड़ में चल रहे सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ हुआ। पुलिस ने छापा मारकर इसका खुलासा किया है।...

चीन ने रची साजिश? होटल में मृत मिला ताइवान का सीनियर मिसाइल डेवलपमेंट अधिकारी

बीजिंग।  अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी के ताइवान दौरे के बाद चीन की लगातार बौखलाहट देखने को मिल रही है। यही वजह है...

पूर्व सीएम हरीश रावत मुख्यमंत्री आवास पर आज होने वाले उपवास को करेंगे 18 अगस्त को

देहरादून । पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत आज  मुख्यमंत्री के आवास पर होने वाले उपवास अब 18 अगस्त को करेगें, उन्होंने कहा कि आज मुख्यमंत्री...

सैमसंग इंडिया के चेयरमैन के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी, ग्राहक की शिकायत पर कार्रवाई

संभल। मोबाइल-टीवी समेत अन्य इलेक्ट्रोनिक उपकरण बनाने वाली मशहूर कंपनी सैमसंग को बड़ा झटका लगा है। सैमसंग को उपभोक्ता आयोग के आदेश का पालन...

सबसे कम उम्र के परमवीर चक्र विजेता योगेंद्र यादव पर फिल्म बनाएंगी चित्रांगदा

चित्रांगदा सिंह बॉलीवुड की मशहूर अदाकारा हैं। उन्होंने अपने अभिनय से कई फिल्मों में समा बांधा है। एक्टिंग के अलावा प्रोडक्शन में भी उन्होंने...

एनडीए के उम्मीदवार जगदीप धनखड़ बने देश के नए उपराष्ट्रपति, 11 अगस्त को लेंगे शपथ

दिल्ली।  देश को नया उपराष्ट्रपति मिल गया है।  एनडीए उम्मीदवार जगदीप धनखड़ ने भारी मतों से जीत दर्ज की है। उपराष्ट्रपति चुनाव में उन्होंने...

Recent Comments