Home उत्तराखंड उत्तराखंड सियासी संकट : 114 दिन के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की...

उत्तराखंड सियासी संकट : 114 दिन के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की विदाई के पीछे हैं ये कारण

सिर्फ 114 दिन में ही मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की कहानी खत्म हो गई। खुद तीरथ ने अपनी विदाई की के पीछे सांविधानिक संकट बताया है, लेकिन इसकी पटकथा उनके विवादित बयानों ने भी लिख दी थी। कई अवसरों पर सरकार और संगठन पर उनके विवादित बयान भारी पड़ गए। संविधान के अनुच्छेद 164(4) के तहत मुख्यमंत्री को छह महीने के भीतर विधानसभा की सदस्यता लेनी है। इसके लिए उन्हें 10 सितंबर से पहले उपचुनाव में जाना था। लेकिन कोविड महामारी की वजह से सभी चुनावों पर आयोग की रोक है। ऐसे में अभी उत्तराखंड की दो खाली सीटों गंगोत्री व हल्द्वानी में उपचुनाव की संभावना नहीं है। सियासी जानकारों का मानना है कि मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की तरह पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी को भी चुनाव लड़ना है। सियासी जानकार तीरथ की विदाई में ममता बैनर्जी के उपचुनाव का कनेक्शन भी मान रहे हैं। हालांकि पार्टी सूत्रों की एक राय  और भी है। उनका कहना है कि पार्टी ने मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के कार्यकाल को लेकर जो सर्वे कराया है, उसके नतीजे भाजपा के लिए सुखद नहीं हैं। उनके विवादित बयानों से संगठन और सरकार को कई बार असहज होना पड़ा।

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के कार्यकाल की शुरुआत राष्ट्रीय स्तर पर विवादों से हुई और कार्यकाल का समापन अचानक से ही हो गया। इस छोटी सी पॉलिटिकल स्टोरी में जहां सोशल मीडिया का ड्रामा रहा तो दूसरी ओर कोविड की दूसरी लहर की भारी भरकम चुनौती थी। बेरोजगारी का मुद्दा चरम की ओर बढ़ा तो पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र के विवादित फैसलों पर पलटने की बातों ने भी चर्चा बटोरी। 10 मार्च 2021 को शपथ लेने के बाद सीएम तीरथ के कार्यकाल की शुरुआत विवादित बयानों से हुई। उन्होंने यह कहते हुए विवाद पैदा कर दिया कि महिलाओं का रिप्ड यानी फटी हुई जींस पहनना कैसे संस्कार हैं। उनका यह बयान रातोंरात राष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियों में आ गया।

कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने इस पर सीएम तीरथ की आलोचना की। देखते ही देखते उनका यह बयान सोशल मीडिया में टॉप ट्रेंड में आ गया। हालांकि बाद में उन्होंने अपनी सफाई भी दी। इसी प्रकार, सीएम तीरथ का एक और बयान विवादों में आया जब उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भगवान राम और कृष्ण का अवतार माना जाएगा। इस बयान पर भी उन्हें कड़ी आलोचना का सामना करना पड़ा। इस तरह जूझते-जूझते 100 दिन की उपलब्धियों का जश्न मनाकर सीएम तीरथ का यह कार्यकाल उत्तराखंड की राजनैतिक इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गया।

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कैंट रोड स्थित भव्य मुख्यमंत्री आवास में जाने का मोह नहीं किया। उन्होंने कोरोना की तीसरी लहर में मुख्यमंत्री आवास को कोविड केयर सेंटर बनाने का ऐलान तक कर दिया। सत्ता की कमान सभालने के दिन से मुख्यमंत्री के बारे में यह चर्चा थी कि वह मुख्यमंत्री आवास में शिफ्ट नहीं होंगे। उन्होंने अपने जीएमएस रोड स्थित निजी आवास पर ही रहना उचित समझा। सत्ता की बागडोर हाथों में आने के दिन से ही तीरथ सिंह रावत पीएम नरेंद्र मोदी का नाम रटते रहे। जब विदा हुए तब भी उनकी जुबान पर पीएम मोदी का नाम था। त्यागपत्र देने के बाद उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी का आभार जताया।

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि सांविधानिक संकट की वजह से उन्हें अपने पद से त्यागपत्र देना पड़ा। जब उनसे पूछा गया कि उनके पास सल्ट विधानसभा से उपचुनाव लड़ने का अवसर था, इस पर उन्होंने कहा कि वे कोविड से पीड़ित थे, इसलिए चुनाव नहीं उतरे। त्यागपत्र देने के बाद मीडियाकर्मियों ने मुख्यमंत्री से सबसे पहला सवाल यही पूछा कि उनके त्यागपत्र देने की क्या वजह है? इस पर उन्होंने लोक प्रतिनिधित्व कानून की धारा 151(ए) का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि सांविधानिक संकट की वजह से उन्होंने त्यागपत्र दिया। कहा कि वह हृदय से अपने पीएम मोदी, राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा व केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का धन्यवाद करते हैं।

Source Link

RELATED ARTICLES

फूलदेई पर्व पर कक्षा 8वीं तक के छात्र- छात्राओं को मिले अवकाश

उत्तराखंड का लोकपर्व फूलदेई लोक परम्पराओं का वाहक देहरादून। फूलदेई पर्व पर कक्षा आठ तक वे स्टूडेंट्स के लिए अवकाश घोषित करने की मांग की।...

बदरीनाथ-केदारनाथ में जल्द शुरू होगें अस्पताल – डा. आर राजेश कुमार

चारधाम यात्रा को सुगम और सुरक्षित बनाने में जुटा स्वास्थ्य महकमा मरीजों के इलाज में कोताही बर्दाश्त नहीं, होगी सख्त कार्रवाई- डॉ आर राजेश कुमार देहरादून।...

गंग नहर में डूबा व्यक्ति , SDRF ने बचाई जान

देहरादून।  दिनाँक 02 मार्च 2024 को कलियर मार्ग सोनाली पार्क रूड़की के पास IIT के दो छात्र डूब गए थे जिसमें से एक छात्र...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

फूलदेई पर्व पर कक्षा 8वीं तक के छात्र- छात्राओं को मिले अवकाश

उत्तराखंड का लोकपर्व फूलदेई लोक परम्पराओं का वाहक देहरादून। फूलदेई पर्व पर कक्षा आठ तक वे स्टूडेंट्स के लिए अवकाश घोषित करने की मांग की।...

बदरीनाथ-केदारनाथ में जल्द शुरू होगें अस्पताल – डा. आर राजेश कुमार

चारधाम यात्रा को सुगम और सुरक्षित बनाने में जुटा स्वास्थ्य महकमा मरीजों के इलाज में कोताही बर्दाश्त नहीं, होगी सख्त कार्रवाई- डॉ आर राजेश कुमार देहरादून।...

भारत घूमने आई स्पेन की महिला से गैंगरेप, चार लोग हिरासत में

विधानसभा में भी उठा मुद्दा विपक्ष हमलावर दुमका। झारखंड के दुमका के हंसडीहा थाना क्षेत्र में स्पेन की एक महिला के साथ गैंगरेप की वारदात...

गंग नहर में डूबा व्यक्ति , SDRF ने बचाई जान

देहरादून।  दिनाँक 02 मार्च 2024 को कलियर मार्ग सोनाली पार्क रूड़की के पास IIT के दो छात्र डूब गए थे जिसमें से एक छात्र...

मुख्यमंत्री ने 27 डिप्टी जेलरों व 285 बंदी रक्षकों को दिए नियुक्ति-पत्र

आर्थिक सर्वेक्षण की रिपोर्ट- बेरोजगारी दर में आई भारी कमी-सीएम सेवायोजन विभाग से लगभग साढ़े तीन हजार युवाओं को मिले रोजगार के अवसर देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर...

क्या ज्यादा चाय पीने से भी वजन बढ़ सकता है, जानें न्यूट्रीशियन क्या कहते हैं…

भारतीय को चाय बहुत ज्यादा पसंद होती है. इसे आप मॉर्निंग ड्रिंक कह सकते हैं. क्योंकि यहां दिन की शुरुआत एक अच्छी सी चाय...

13 लाख बच्चों को पिलाई जायेगी पोलियो ड्राप- डॉ धन सिंह रावत

प्रदेशभर में घर-घर चलाया जाएगा प्लस पोलियो अभियान स्वास्थ्य मंत्री डॉ रावत की अभिभावकों से अपील, बच्चों को जरूर पिलाएं पोलियो खुराक देहरादून। राष्ट्रीय प्लस पोलियो...

उत्तराखंड में बर्फबारी का अलर्ट, नागरिकों को सावधानी बरतने के दिए गए निर्देश 

देहरादून। उत्तराखंड में मौसम बदल गया है। पहाड़ों पर जहां शुक्रवार दोपहर के बाद से ही बर्फबारी हो रही है, वहीं मैदानी इलाकों में...

भाजपा की पहली सूची में तीन सांसद फिर लड़ेंगे चुनाव

लोकसभा चुनाव 2024- पौड़ी व हरिद्वार सीट पर तीरथ व निशंक उलझे कड़ी जंग में देहरादून। भाजपा की पहली सूची के बाद पौड़ी व हरिद्वार...

केजरीवाल को अब समन पर जाना होगा

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी ने उनको आठवां समन भेजा है और चार मार्च को...

Recent Comments