Home ब्लॉग चीन को खरी-खरी

चीन को खरी-खरी

आस्ट्रेलिया में संपन्न क्वाड देशों के विदेश मंत्रियों की बैठक में न केवल हिंद-प्रशांत क्षेत्र में चीन की आक्रामकता पर चिंता व्यक्त की गई बल्कि भारत-चीन सीमा पर उत्पन्न गतिरोध की भी चर्चा हुई। बैठक के बाद आस्ट्रेलिया के विदेश मंत्री के साथ आयोजित संयुक्त प्रेस वार्ता में विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने दो-टूक शब्दों में कहा कि वास्तविक नियंत्रण रेखा पर मौजूदा तनाव के लिये चीन जिम्मेदार है। साथ ही कहा कि सीमा पर सैनिकों का जमावड़ा न करने के लिखित समझौते के बावजूद चीन ने सेना तैनात करके तनाव बढ़ाया है।

जयशंकर ने यह बात पूर्वी लद्दाख सीमा पर जारी गतिरोध के बाबत कही। हालिया, सैन्य वार्ताओं के बावजूद चीन द्वारा अडिय़ल रवैया दर्शाने के बाद  चीन पर भारत की  तरफ से दिया गया यह सख्त बयान है। एस. जयशंकर ने स्वीकारा कि क्वाड विदेश मंत्रियों की बैठक में भारत-चीन सीमा गतिरोध के मुद्दे पर भी चर्चा हुई। साथ ही कहा कि यह क्वाड देशों के पड़ोस में होने वाले घटनाक्रम की जानकारी एक-दूसरे को देने के तरीके का एक हिस्सा है। दरअसल, हिंद-प्रशांत इलाके के देशों पर लगातार दबाव बना रहे चीन के निरंकुश व्यवहार पर अंकुश लगाने के लिये ही अमेरिका, आस्ट्रेलिया, जापान व भारत क्वाड के रूप में एक साथ आये हैं। अमेरिका समेत क्वाड के सदस्य देश इस बात को मानते हैं कि चीन आर्थिक, सैन्य, कूटनीतिक और तकनीकी शक्ति के बूते हिंद-प्रशांत क्षेत्र में वर्चस्व स्थापित करने का प्रयास कर रहा है। हालांकि, यह चीनी आक्रामकता पूरी दुनिया में व्याप्त है, लेकिन हिंद-प्रशांत क्षेत्र में उसकी तीव्रता अधिक है।

वहीं जब आस्ट्रेलिया में क्वाड की बैठक चल रही थी, उसी दौरान बाइडन प्रशासन ने हिंद-प्रशांत पर अपनी पहली रणनीतिक रिपोर्ट जारी की। अमेरिका द्वारा जारी रिपोर्ट में कहा गया कि भारत वर्तमान में भू-राजनीतिक चुनौतियों से घिरा हुआ है। खासकर एलएसी पर चीन की ओर से मिल रही चुनौती से। इस रिपोर्ट में भारत-अमेरिका में बढ़ते सहयोग पर बल देते हुए चीन को निशाने पर लिया गया। रिपोर्ट में विश्वास जताया गया कि हिंद-प्रशांत क्षेत्र में भारत के सहयोग से अमेरिका को मजबूती मिलेगी। भारत से रणनीतिक साझेदारी बढ़ाने के अलावा स्वास्थ्य, साइबर स्पेस व अंतरिक्ष में मिलकर काम करने पर बल दिया गया। साथ ही दक्षिण एशिया की स्थिरता में भारत की भूमिका को स्वीकार करते हुए मुक्त हिंद-प्रशांत क्षेत्र की जरूरत बतायी गई।

रिपोर्ट में चीनी साम्राज्यवाद को आड़े हाथ लेते हुए आरोप लगाया गया कि चीन न केवल भारत के वास्तविक नियंत्रण रेखा पर संघर्ष के लिये आमादा है, बल्कि आस्ट्रेलिया पर आर्थिक दबाव बना रहा है। वहीं ताइवान समेत पूर्वी-दक्षिणी चीन सागर स्थित देशों को आतंकित करने का प्रयास कर रहा है। भारत को समान विचारधारा वाला साझेदार बताते हुए अमेरिका ने माना कि उसके सहयोगी देशों को चीन की आक्रामकता का शिकार होना पड़ रहा है। बहरहाल,क्वाड सम्मेलन के जरिये भारत चीन को स्पष्ट संदेश देने में कामयाब रहा है कि वह हमें हल्के में न ले।

RELATED ARTICLES

खाद्य सुरक्षा बनाम किसान का हित

अजीत द्विवेदी केंद्र सरकार ने गेहूं के निर्यात पर पाबंदी लगाई तो खाद्य सुरक्षा बनाम किसान के हित की सनातन बहस फिर छिड़ गई। निर्यात...

गेहूं बना सिरदर्द

वेद प्रताप वैदिक अभी महिना भर पहले तक सरकार दावे कर रही थी कि इस बार देश में गेहूं का उत्पादन गज़ब का होगा। उम्मीद...

मौद्रिक उपाय पर सवाल

भारतीय रिजर्व बैंक ने बढ़ती मुद्रास्फीति पर काबू पाने के लिए मौद्रिक उपाय का सहारा लिया है। पहले कदम के तौर पर उसने ब्याज...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

बिग न्यूज:- आगामी 7 जून से गैरसैंण में होगा विधानसभा सत्र, धामी सरकार पेश करेगी अपना बजट, धामी सरकार के बजट पर सभी की...

देहरादून। सात जून से गैरसैंण ( भराड़ीसैंण) में विधानसभा सत्र होगा। इसी सत्र में धामी सरकार अपना बजट भी पेश करेगी। इसके साथ आर्थिक...

कंपनी में डायरेक्टर बनाकर महिला से दुष्कर्म, अश्लील फोटो और वीडिया वायरल करने की धमकी देकर करता रहा ब्लैकमेल

देहरादून। शातिर कारोबारी ने युवती को शादी का झांसा देकर उसके साथ लंबे समय तक शारीरिक संबंध बनाए। युवती का विश्वास जीतने के लिए...

हाईकोर्ट समेत न्यायालयों में ड्रेस कोड में पहाड़ी टोपी शामिल हो

नैनीताल। हाईकोर्ट समेत प्रदेश की न्यायालयों में निर्धारित ड्रेस कोड में पहाड़ी टोपी को शामिल करने को लेकर हाईकोर्ट के अधिवक्ताओं ने जनजागरण अभियान...

कारोबारी महिला के खाते से 12 लाख की ठगी

देहरादून। सेलाकुई में सहगल स्टील, फर्नीचर का कारोबार करने वाली महिला के बैंक खाते से 12.40 लाख रुपये ट्रांसफर हो गए। उनके बैंक खाते...

गोल्ड कप क्रिकेट का आगाज, बाहर धरने पर बैठे पूर्व मंत्री बिष्ट

देहरादून। प्रदेश में राष्ट्रीय स्तर के क्रिकेट टूर्नामेंट गोल्ड कप का आगाज हो गया है। रायपुर स्थित महाराणा स्पोर्ट्स कॉलेज के मैदान में उत्तराखंड...

यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग के पास भूधंसाव से हुआ मार्ग अवरुध्द, जाम में फंसे सैकडों यात्री

देहरादून। यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर राना चट्टी के पास आज  फिर से भू धसाव हो गया, जिसके कारण यहां बड़े वाहनों की आवाजाही अवरुद्ध हो...

तालिबान का एक और नया फरमान, महिला टीवी एंकर को शो में ढकना होगा चेहरा

काबुल। अफगानिस्तान पर कब्जा जमाने वाले तालिबान ने आज एक और नया फरमान जारी किया है। नए फरमान में कहा गया है कि सभी टीवी...

हिमाचल के मुकाबले हर घर पानी पहुंचाने में काफी पीछे है उत्तराखंड, 61 प्रतिशत पर ही रुका आंकड़ा, जानिए क्या है वजह

देहरादून। केंद्र सरकार ने जल जीवन मिशन के तहत उत्तराखंड को 2023 तक सभी 100 प्रतिशत घरों तक पेयजल कनेक्शन पहुंचाने का लक्ष्य तय...

चारधाम यात्रा पर जा रहें हैं तो इस खबर को इग्नोर न करें, पहले पंजीकरण फिर बुक करें टिकट और होटल

देहरादून। चारधाम यात्रा पर जाने के इच्छुक यात्रियों को यह सलाह दी जाती है कि यात्रा के दौरान किसी प्रकार की अव्यवस्था से बचने...

होंठों से लेकर एडिय़ों तक में चमक लाएगा खरबूजा

खरबूजा एक ऐसा फल है जो गर्मी के दिनों में खूब पसंद किया जाता है। खरबूजा उन फलों में से है, जो टेस्टी होने...

Recent Comments