Saturday, July 2, 2022
Home ब्लॉग तीसरी लहर का खतरा

तीसरी लहर का खतरा

कोविड-19 वायरस के अब तक के सबसे संक्रामक रूप ओमिक्रॉन के मरीज कर्नाटक के बाद महाराष्ट्र, गुजरात और दिल्ली में भी मिले हैं। यह बात सही है कि अभी भारत में इसके मामले बहुत कम हैं, लेकिन इसकी संक्रामकता को ध्यान में रखते हुए जानकार यहां कोविड की तीसरी लहर की भविष्यवाणी करने लगे हैं। एक और दिक्कत यह है कि ओमिक्रॉन के मामले में वैक्सीन बनाने वाली कंपनियां भी अपने टीकों को लेकर श्योर नहीं हो पा रही हैं।
पिछले दिनों अमेरिकी कंपनी मॉडर्ना के सीईओ ने कहा भी था कि ओमिक्रॉन के स्पाइक प्रोटीन में इतनी बड़ी संख्या में म्यूटेशन हो रहे हैं कि यह वैक्सीन लगाने के बाद बनी एंटीबॉडीज से बचने में कामयाब हो सकता है। इससे ओमिक्रॉन को लेकर फिक्र बढ़ी है। इसके साथ यह भी कहा गया है कि ओमिक्रॉन भले ही संक्रामकता के मामले में कोविड-19 वायरस की दूसरी किस्मों से आगे है, लेकिन यह उतना जानलेवा नहीं है। यों तो इस बारे में समय के साथ अधिक जानकारी सामने आएगी, लेकिन यह मानी हुई बात है कि म्यूटेशन के साथ वायरस कम जानलेवा होता जाता है।

अभी तक दुनिया के जिन देशों में ओमिक्रॉन के मरीज मिले हैं, उनमें से किसी के भी मरने की खबर नहीं आई है। फिर भी एक्सपर्ट्स की भविष्यवाणी को देखते हुए केंद्र और राज्य सरकारों को संभावित तीसरी लहर से निपटने की तैयारी शुरू कर देनी चाहिए। इस मामले में दूसरी लहर के दौरान के सबक याद रखने होंगे, जब स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह से लाचार दिख रही थी। तीसरी लहर से निपटने की तैयारियों के साथ कुछ और बातों पर भी ध्यान देने की जरूरत है। इधर, वैक्सिनेशन की रफ्तार धीमी पड़ी है। ऐसे लोगों की भी कमी नहीं, जो वैक्सीन की पहली डोज लेने के बाद दूसरी डोज लगवाने में लापरवाही बरत रहे हैं।

इस मामले में केंद्र और खासतौर पर राज्य सरकारों को खास पहल करनी होगी। राज्यों को यह भी पक्का करना होगा कि कोविड की जांच की रफ्तार धीमी ना पड़े। दूसरी लहर के बाद कोरोना के मामलों के कम होने के साथ लोग सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क लगाने को भी लेकर लापरवाह हुए हैं। याद रखना होगा कि कोविड-19 महामारी खत्म नहीं हुई है और इससे बचने का पहला उपाय सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क का प्रयोग है। सरकार को भी ओमिक्रॉन को लेकर चौकस रहना होगा। अगर इसके हॉट स्पॉट उभरते हैं तो जल्द से जल्द वहां से दूसरी जगहों पर संक्रमण रोकने के उपाय करने होंगे। दूसरी लहर के दौरान जिस तरह से पूर्ण लॉकडाउन से बचा गया, वह इकॉनमिक रिकवरी में मददगार साबित हुआ।
संभावित तीसरी लहर में यह सबक भी याद रखना होगा। आखिर में, ओमिक्रॉन को लेकर घबराने की जरूरत नहीं है। जिस तरह से दुनिया से कोरोना महामारी से निपटने के लिए रेकॉर्ड समय में वैक्सीन बनाई। जिस तरह से सामान्य जिंदगी की ओर लौटने की कोशिश हो रही है, वह काबिल-ए-तारीफ है। इसमें कोई शक नहीं है कि दुनिया ओमिक्रॉन के खतरे से भी उबर जाएगी।

RELATED ARTICLES

प्रतीक और प्रतिनिधित्व

किसी समुदाय के विशेष के व्यक्ति को ऊंचे पद पर बैठा देने का यह कतई मतलब नहीं होता है कि उस समुदाय का सामाजिक...

खुद चुनाव आयोग में सुधार जरूरी

अजीत द्विवेदी इससे कोई इनकार नहीं कर सकता है कि देश में बड़े चुनाव सुधारों की जरूरत है। इसलिए चुनाव आयोग ने केंद्र सरकार को...

अग्निपथ क्यों बना कीचड़पथ?

वेद प्रताप वैदिक अग्निपथ को हमारे नेताओं ने कीचड़पथ बना दिया है। सरकार की अग्निपथ योजना पर पक्ष-विपक्ष के नेता कोई गंभीर बहस चलाते, उसमें...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

‘डाक्टर्स डे‘ पर 21 डाक्टरों का किया सम्मान

- सांसद नरेश बंसल ने लिंगानुपात बढ़ने पर जतायी चिन्ता - मेयर गामा ने की सिंगल यूज्ड प्लास्टिक का उपयोग रोकने की अपील देहरादून। राज्यसभा सांसद...

CM धामी ने कन्याश्री कार्यक्रम में प्रतिभाग कर, छात्राओं को वितरित की साईकिल

सामाजिक विकास में स्वयंसेवी संस्थाओं का बताया विशेष योगदान। उधम सिंह नगर। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि रोटरी क्लब सेवा, सहायता एवं समर्पण का...

स्मैक तस्करी पर उत्तरकाशी पुलिस ने की कर्रवाई, 8.30 ग्राम स्मैक के साथ 1 युवक गिरफ्तार

उत्तरकाशी। जनपद में नशे को जड़ से खत्म करने की उत्तरकाशी पुलिस की मुहिम लगातार जारी है। पुलिस एक के बाद एक नशा सौदागर को...

उत्तराखंड में मौसम विभाग ने जारी किया 4 जुलाई तक कई जिलों में बारिश का यलो और ऑरेंज अलर्ट

देहरादून। प्रदेश में मानसून की घोषणा होने के साथ ही उत्तराखंड में बारिश के सिलसिले में भी तेजी आई है। गुरुवार को राज्य के अनेक...

भारतीय कप्तान रोहित शर्मा की कोविड रिपोर्ट एक बार फिर से आई पॉजि़टिव

भारतीय कप्तान रोहित शर्मा की कोरोना रिपोर्ट फिर से पॉजि़टिव आई है, इससे उनके एजबेस्टन टेस्ट में खेलने पर संशय बरकरार है। प्राप्त जानकारी...

फिलीपींस के 17वें राष्ट्रपति के रूप में फर्डिनेंड मार्कोस जूनियर ने ली शपथ

मनीला। दिवंगत नेता फर्डिनेंड मार्कोस के बेटे फर्डिनेंड मार्कोस जूनियर ने मनीला के नेशनल म्यूजियम में फिलीपींस के 17वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली।...

सिर पर कांटों का ताज, चलना होगा अग्निपथ पर, 100 दिन सफलता के बीते, चुनौतियों के 1725 दिन बाकी

अवधेश नौटियाल देहरादून । मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के 100 दिन हनीमून पीरियड रहे हैं। वक्त की नजाकत और मतदाताओं के मूड को भांपते हुए...

मानसून के दृष्टिगत सभी व्यवस्थाएं चाक-चौबंद: महाराज

केन्द्रीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष का दूरभाष नंबर हुआ जारी देहरादून। मानसून के दृष्टिगत प्रदेश में सिंचाई एवं लोक निर्माण विभाग द्वारा सभी व्यवस्थाएं चाक-चौबंद कर...

जानें प्रेशर कुकर के 3 हैक्स, खाना बनेगा जल्दी

प्रेशर कुकर का इस्तेमाल हमेशा ही बहुत लाभदायक होता है और अगर आपको इससे जुड़े कुछ हैक्स पता हों तब तो ये और भी...

‘तमाशा लाइव’ का प्रमोशन करते हुए टीवी जर्नलिस्ट बनीं सोनाली कुलकर्णी

मराठी फिल्म ‘तमाशा लाइव’ में पत्रकार के रूप में नजर आने वाली अभिनेत्री सोनाली कुलकर्णी को वास्तविक जीवन में समाचार बुलेटिन पढऩे वाली टीवी...

Recent Comments