Wednesday, May 18, 2022
Home ब्लॉग पाक में आतंकी ठिकाने

पाक में आतंकी ठिकाने

अब अमेरिका ने भी मान लिया है कि पाकिस्तान में आतंक की पाठशाला जारी है। हाल ही में अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने आतंकवाद पर देशों की रिपोर्ट 2020 जारी की। वैसे इसमें कोई नई बात नहीं है, भारत तमाम अंतर्राष्ट्रीय मंचों से यह बात दोहराता रहा है कि क्षेत्र में आतंक फैलाने के मकसद से पाकिस्तान में कुख्यात आतंकवादियों के ठिकाने बने हुए हैं, जिनको सत्ता प्रतिष्ठानों, सेना व आईएसआई की मदद मिलती है। लेकिन फिलहाल चीन के पाले में गहरे तक घुस चुके और अफगानिस्तान में अमेरिकी अभियानों को पलीता लगाने के चलते अमेरिका ने पाक से किनारा किया हुआ है।

अब जबकि अमेरिकी राष्ट्रपति का एक साल का कार्यकाल पूरा होने को है, उन्होंने पाक प्रधानमंत्री को नजरअंदाज करते हुए एक बार भी फोन नहीं किया। सही मायनों में अफगानिस्तान के घटनाक्रम के बाद पाक की दुरभिसंधि की कलई दुनिया के सामने खुल गई। अब जाकर अमेरिका को अहसास हुआ कि पाक अमेरिका से मदद लेकर तालिबान को मजबूत करता रहा। इन हालात में अमेरिका ने भारत के उन आरोपों पर मोहर लगा दी है, जिसमें हम कहते थे कि पाक आतंकवादियों की उर्वरा भूमि है। बहरहाल, आतंकवाद पर अमेरिकी रिपोर्ट दुनिया के सामने पाक को बेनकाब करने के लिये काफी है जो उसके इस झूठ से पर्दा हटाता है कि वह आतंकवादी समूह पर नकेल कसने के लिये पर्याप्त कार्रवाई कर रहा है। लेकिन संयुक्त राष्ट्र व अमेरिका द्वारा घोषित कुख्यात आतंकवादी पाक में हक्कानी नेटवर्क, लश्कर व जेईएम आदि संगठनों में बेरोक-टोक काम कर रहे हैं।

अब तक पाक आतंकवादियों को फंडिंग करने वाले देशों की निगरानी करने वाली अंतर्राष्ट्रीय संस्था एफएटीएफ को यह जताता रहा है कि वह आतंकवादियों की वित्तीय मदद रोकने के लिये कदम उठा रहा है, लेकिन अमेरिकी रिपोर्ट ने सच सामने ला दिया है, जिससे पाक के एफएटीएफ की काली सूची में शामिल होने का खतरा बढ़ गया है। अमेरिकी रिपोर्ट में सबसे ज्यादा चौंकाने वाली बात यह है कि कुख्यात आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट में भारतीय मूल के 66 लड़ाके शामिल हैं। साथ ही वर्ष 2020 के दौरान कोई भी विदेशी आतंकवादी लड़ाका भारत नहीं लौटा जो निस्संदेह देश की सुरक्षा व्यवस्था के लिये बड़ी चुनौती है।

हालांकि, अमेरिका ने रिपोर्ट में कहा है कि एनआईए समेत कई भारतीय आतंकवाद-रोधी एजेंसियां सक्रियता से अंतर्राष्ट्रीय और क्षेत्रीय आतंकवादी ताकतों का पता लगाने और उन्हें रोकने के लिये सराहनीय काम कर रही हैं। इसके बावजूद भारतीय एजेंसियों को अधिक चौकस रहने व राष्ट्रीय आतंकवाद विरोधी चार्टर को मजबूत बनाने की जरूरत है। भारत तमाम वैश्विक मंचों पर पाक में आतंकवादियों के ठिकाने होने की बात उठाता रहा है, लेकिन पाक पर नकेल डालने की गंभीर कोशिश अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर नहीं हुई है। बहरहाल, अमेरिका ने कहा है कि वह भारत सरकार के साथ रणनीतिक साझेदारी जारी रखेगा। इसके अंतर्गत द्विपक्षीय संबंधों के जरिये आतंकवाद-रोधी संयुक्त कार्यबल को मजबूती प्रदान की जा रही है।

RELATED ARTICLES

मौद्रिक उपाय पर सवाल

भारतीय रिजर्व बैंक ने बढ़ती मुद्रास्फीति पर काबू पाने के लिए मौद्रिक उपाय का सहारा लिया है। पहले कदम के तौर पर उसने ब्याज...

मानव बुद्धि: पहले पंखज्फिर पिंजरे!

हरिशंकर व्यास त्रासद सत्य है जो पृथ्वी के आठ अरब लोग अपना स्वत्व छोड़ते हुए घोषणा करते हैं कि हम फलां-फलां बाड़े (195 देश) के...

सबको पसंद है राजद्रोह कानून

अजीत द्विवेदी भारतीय दंड संहिता की धारा 124ए यानी राजद्रोह कानून पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला ऐतिहासिक है लेकिन यह अंतिम जीत नहीं है। यह...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

सिपाही की फर्जी पत्‍नी बनी फालोवर की बेटी, सिपाही हुआ सस्‍पेंड

हरिद्वार। रोशनाबाद पुलिस लाइंस में भर्ती के दौरान सिपाही की पत्नी की जगह लंबी कूद लगाने वाली महिला पुलिस लाइन में ही तैनात एक...

ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर जारी विवाद के बीच साक्षी महाराज बोले- भगवान विष्णु के मंदिर को तोड़कर बनी है दिल्ली की जामा मस्जिद

ऋषिकेश। उन्नाव सांसद साक्षी महाराज आज मंगलवार को ऋषिकेश में स्थित अपने भगवान आश्रम पहुंचे। पत्रकारों से बातचीत करते हुए साक्षी महाराज ने कहा...

दिल्ली हाईकोर्ट के जज जस्टिस विपिन सांघी होंगे नैनीताल हाईकोर्ट के नए चीफ जस्टिस

नैनीताल। सुप्रीम कोर्ट की कोलेजियम ने दिल्ली हाईकोर्ट के जज न्यायमूर्ति विपिन सांघी को नैनीताल हाईकोर्ट का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त करने की सिफारिश की...

सीएम पुष्कर सिंह धामी ने आरटीओ पर मारा छापा, आरटीओ दिनेश पठोई को किया सस्पेंड

सीएम के आर टी ओ कार्यालय में पहुंचने की सूचना से मचा हड़कंप लेटलतीफी और कामों को लटकाने की शिकायतों के बाद सीएम ने किया...

खाई में गिरा वाहन, एसडीआरएफ ने चलाया सर्च एंड रेस्क्यू ऑपरेशन

देहरादून। आज दिनांक 18 मई 2022 को एसडीआरएफ टीम को जिला नियंत्रण कक्ष टिहरी से सूचना मिली की देवप्रयाग से 2 किलोमीटर पीछे एक...

गर्मियों में बचना है लू से तो जरूर अपनाएं ये आसान घरेलू उपाय

गर्मी अकेले नहीं आती, बल्कि अपने साथ-साथ हमें परेशान करने के लिए अन्य कई तरह की समस्याएं भी ले आती है। इन समस्याओं में...

ए.आर. रहमान की पहली फिल्म ले मस्क का कान एक्सआर में होगा प्रीमियर

ग्रैमी विजेता भारतीय संगीतकार ए.आर. रहमान की पहली फीचर फिल्म ले मस्क का कान फिल्म मार्केट के कान एक्सआर प्रोग्राम में वल्र्ड प्रीमियर होगा।...

मौद्रिक उपाय पर सवाल

भारतीय रिजर्व बैंक ने बढ़ती मुद्रास्फीति पर काबू पाने के लिए मौद्रिक उपाय का सहारा लिया है। पहले कदम के तौर पर उसने ब्याज...

चारधाम यात्रा में अव्यवस्थाओं पर भड़के यशपाल आर्य, बोले सिस्टम के नाकारापन के कारण पूरे देश में उत्तराखंड की छवि हो रही खराब

हल्द्वानी। चारधाम यात्रा की व्यवस्थाओं को लेकर नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने सरकार पर सवाल उठाए। कहा कि सरकार यात्रियों को बुनियादी सुविधाएं तक...

देहरादून पहुंचा पहाड़ का रसीला खट्टा मीठा फल काफल, जानिए इसके फायदे

देहरादून। सीजन के अंतिम दिनों में ही सही पहाड़ का रसीला काफल देहरादून पहुंच गया है। यह पहाड़ी फल कैंसर समेत कई बीमारियों की रोकथाम...

Recent Comments