Sunday, August 14, 2022
Home ब्लॉग आत्मनिर्भरता की पहल

आत्मनिर्भरता की पहल

मंगलवार को जब संसद में वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने अपना चौथा आम बजट पेश किया तो कई मायनों में यह अलग था। कई परंपराएं बदलीं, ये पेपरलेस बजट और भाषण संक्षिप्त था। पांच राज्यों के चुनाव के बीच आये बजट में भले ही नये करों का प्रावधान नहीं था, लेकिन यह लोकलुभावन बजट भी नहीं था। वर्ष 2022-23 के बजट में नौकरीपेशा वर्ग को आयकर में छूट न मिलने पर निराशा जरूर हुई, जो कोरोना संकट में आय संकुचन के दौर में राहत की उम्मीद लगाये हुए था। दरअसल, सरकार का पूरा ध्यान इन्फ्रास्ट्रक्चर पर रहा। लेकिन महंगाई और बेरोजगारी दूर करने को बड़ी पहल होती नजर नहीं आई। सरकार का कहना है कि अमृतकाल में देश को आत्मनिर्भर बनाने की पहल हुई है।

इसके अलावा भारत में दखल बनाती क्रिप्टो करंसी पर तीस फीसदी टैक्स लगाने, इसके लेन-देन में टीडीएस लगाने, आरबीआई द्वारा इस वर्ष डिजिटल करंसी जारी करने, डाकघरों को मुख्य बैंकिंग व्यवस्था से जोडऩे, ई-पासपोर्ट सेवा आरंभ करने जैसी कई महत्वपूर्ण घोषणाएं बजट में की गई। वहीं पूर्वोत्तर के विकास हेतु 1500 करोड़ रुपये आवंटित करने तथा आगामी तीन सालों में चार सौ वंदे भारत ट्रेनों के परिचालन की घोषणा की गई। सरकार ने अर्थव्यवस्था में गति लाने के क्रम में राजस्व घाटा 6.4 फीसदी रहने का अनुमान जताया है तथा वर्ष 2022-23 में कुल खर्च 39.45 लाख करोड़ रुपये रहने का आकलन है। वहीं विपक्ष कह रहा है कि देश में रिकॉर्ड महंगाई और बेरोजगारी को नियंत्रित करने के लिये कोई ठोस पहल नहीं हुई है। कोरोना संकट से जूझते आम आदमी को यह बजट राहत नहीं देता। यह भी कि एक ओर सरकार सौर ऊर्जा को बढ़ावा तथा पर्यावरण सुरक्षा को प्राथमिकता देने की बात करती है, वहीं नदी जोड़ योजना के जरिये पारिस्थितिकीय संतुलन से खिलवाड़ कर रही है।

दरअसल, लगातार दो साल से महामारी का दंश झेल रहे और आय के स्रोतों के संकुचन से त्रस्त लोग आस लगाये बैठे थे कि सरकार की तरफ से उनकी क्रयशक्ति बढ़ाने की दिशा में पहल होगी। मगर सरकार ने आपूर्ति शृंखला को ही प्राथमिकता दी है। लेकिन आपूर्ति बढ़ाना तभी सार्थक होगा, जब लोगों की क्रय क्षमता बढऩे से बाजार में मांग बढ़ेगी। वह भी उन वैश्विक रिपोर्टों के बीच कि कोरोना संकट में देश के अस्सी फीसदी लोगों की आय में संकुचन हुआ है और अमीर लोगों की आय दुगुनी से अधिक हो गई है। वहीं लंबे किसान आंदोलन के बाद उम्मीद थी कि सरकार किसानों को राहत देने के लिये कुछ बड़ा करेगी क्योंकि प्रधानमंत्री ने इस साल तक किसानों की आय दुगुनी करने का लक्ष्य रखा था। कुछ लोग देश की आधी आबादी को रोजगार देने वाले कृषि क्षेत्र की आय को बढ़ाने के लिये बड़ी पहल की उम्मीद कर रहे थे।

निस्संदेह कोरोना संकट में कृषि क्षेत्र ने ही भारतीय अर्थव्यवस्था को संबल दिया था। वहीं पीएम किसान सम्मान निधि में वृद्धि की उम्मीद भी जतायी जा रही थी। हालांकि, बजट में किसान ड्रोन, प्राकृतिक खेती, लैंड डिजिटाइजेशन, एमएसपी के लिये 2.37 लाख करोड़ रखने, नाबार्ड के जरिये कृषि स्टार्टअप्स के वित्तीय पोषण, 1208 मीट्रिक टन धान-गेहूं की खरीद के प्रावधान रखने से किसानों को राहत देने की पहल जरूर हुई है। दूसरी ओर वक्त की जरूरत के हिसाब से एनिमेशन, विजुअल इफेक्ट, गेमिंग और कॉमिक्स सेक्टर में रोजगार को बढ़ावा देने के लिये प्रमोशन टास्क फोर्स बनाने का फैसला किया गया है। साथ ही व्यावसयिक शिक्षा के लिए डिजिटल यूनिवर्सिटी बनाने का निर्णय हुआ है। अगले पांच साल के लिये छह हजार करोड़ रुपये का प्रावधान बताता है कि एमएसएमई सरकार की प्राथमिकताओं में शामिल है। दो लाख आंगनवाड़ी अपग्रेड करने का मकसद कुपोषण व अशिक्षा के खिलाफ लड़ाई को तेज करने का प्रयास है। लेकिन हेल्थ सेक्टर में महामारी के दौर में अपेक्षित बजट वृद्धि की कमी खलती है।

इसके बावजूद साठ लाख रोजगारों का सृजन, अस्सी लाख घर बनाने का लक्ष्य, डाकघरों में एटीएम, पीएम ई-विद्या टीवी चैनल बढ़ाने तथा पच्चीस हजार किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्ग बनाने का लक्ष्य सरकार के कल्याणकारी एजेंडे को ही दर्शाता है।

RELATED ARTICLES

डॉलर के मुकाबले रुपया

लम्बे समय से स्थिर रुपये में पिछले दिनों अचानक गिरावट आने लगी है, जिसके कारण देश में चिन्ता व्याप्त हो रही है । गौरतलब...

भारत क्या पाकिस्तान की मदद करे?

वेद प्रताप वैदिक श्रीलंका के प्रधानमंत्री रनिल विक्रमसिंघ और मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह ने भारत के प्रति जिन शब्दों में आभार व्यक्त किया...

उफ! सत्ता का ऐसा अहंकार!

अजीत द्विवेदी लोकतांत्रिक सत्ता भी नेता को अहंकारी बनाती है लेकिन कितना? क्या लोकतंत्र में किसी चुनी हुई सरकार के नेता या मंत्री का अहंकार...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

14-15 अगस्त को एक लाख लोगों को लगेगी बूस्टर डोज, प्रदेशभर में एक हजार वैक्सीनेशन कैंपों में होगा टीकाकरण

देहरादून । आजादी का अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में आगामी 14 व 15 अगस्त को प्रदेशभर में दो दिवसीय विशेष टीकाकरण अभियान चलाया जायेगा।...

साहित्य को सोशल मीडिया और नई तकनीक से जोड़ने की जरूरत – नरेंद्र सिंह नेगी

देहरादून। साहित्य को समाज के बीच लोकप्रिय बनाने के लिए इसे आज के दौर में नई तकनीक और सोशल मीडिया से जोड़ने की जरूरत...

उत्तराखण्ड पर्यटन क्षेत्र में जितनी चुनौतियां हैं उससे कई गुना इस क्षेत्र में संभावनाएं : जी किशन रेड्डी

देहरादून। केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री जी किशन रेड्डी ने उत्तराखण्ड पर्यटन विभाग के अधिकारियों के साथ राज्य में केंद्र के सहयोग से चल...

आईएचएम के छात्र-छात्राओं ने राष्ट्र के प्रति समर्पण भाव को प्रदर्शित कियाः महाराज

75वें स्वतंत्रता दिवस पर आई० एच० एम० ने बनाये तीन रंगो से निर्मित 75 प्रकार के व्यंजन देहरादून। प्रदेश के पर्यटन, पंचायतीराज, ग्रामीण निर्माण, लोक...

देशभक्ति गीतों की धुन पर कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या ने निकाली शहीद स्मारक कचहरी से पुलिस लाइन तक तिरंगा जनजागरण पदयात्रा

कचहरी स्थित शहीद स्मारक पहुंचकर शहीदों को श्रद्धा सुमन अर्पित कर निकाली तिरंगा पदयात्रा आजादी की 75वी वर्षगांठ के उपलक्ष्य में देश भर में मनाया...

रुद्रपुर में बाइक सवार को स्कूल बस ने मारी टक्कर, मौके पर हुई युवक की मौत

रुद्रपुर। तेज रफ्तार जेसीज पब्लिक स्कूल की बस ने बाइक में टक्कर मार दी। हादसे में बाइक सवार युवक की मौत हो गई, जबकि...

उत्तराखण्ड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग से सन्तोष बडोनी की छुट्टी, संयुक्त सचिव सुरेन्द्र सिंह रावत को जिम्मेदारी

देहरादून।  उत्तराखण्ड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग देहरादून में कार्यालय आदेश संख्या 99/XXX(4)/2017–03(05)/2015 दिनांक 30 मार्च, 2017 के माध्यम से सेवा स्थानान्तरण के आधार पर सचिव...

आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम के तहत जिलाधिकारी मयूर दीक्षित के निर्देशन पर आज केदारनाथ में किया गया तिरंगा रैली का आयोजन

रुद्रप्रयाग।  आजादी के 75 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम के तहत स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर 13 से 15...

CM धामी ने चंपावत में पूजा अर्चना कर, किया मुख्यमंत्री कार्यालय का उद्घाटन

चंपावत।  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शनिवार को गौरल चौड़ मैदान मार्ग, चंपावत में मुख्यमंत्री कैंप कार्यालय, का विधिवत पूजा अर्चना कर उद्घाटन किया। इस...

राम बिलास यादव की पत्नी को विजिलेंस ने आय से अधिक संंपत्ति मामले में बनाया आरोपी, किसी भी वक्त हो सकती है गिरफ्तारी

देहरादून।  आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने के मामले में जेल में बंद सेवानिवृत्त आइएएस राम बिलास यादव की पत्नी कुसुम बिलास को विजिलेंस...

Recent Comments