Home राष्ट्रीय टीकाकरण: दिसंबर तक कैसे मिलेगी वैक्सीन की 250 करोड़ डोज, केंद्र का...

टीकाकरण: दिसंबर तक कैसे मिलेगी वैक्सीन की 250 करोड़ डोज, केंद्र का क्या है प्लान? जानें सब कुछ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा सोमवार को सभी को मुफ्त में कोरोना टीका देने की घोषणा के बाद केंद्र सरकार ने 74 करोड़ वैक्सीन डोज की खरीद का ऑर्डर दिया है और साथ ही इसके लिए अग्रिम भुगतान भी कर दिया है। कोरोना की ये वैक्सीन अगस्त से दिसंबर के बीच आएंगी। खास बात यह है कि कोरोना की ये वैक्सीन तीन कंपनी भारत बायोटेक, सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और बायोलॉजिकल ई देंगी। इसके अलावा कुछ और वैक्सीन भी जल्द आएंगी।

पीएम मोदी ने एलान किया कि 21 जून से सभी राज्यों को मुफ्त कोरोना की वैक्सीन दी जाएगी। इसके लिए सरकार वैक्सीन निर्माताओं से वैक्सीन खरीदेगी और राज्य सरकार को आबादी, संक्रमण और जरूरत के हिसाब से लोगों के लिए वैक्सीन देगी। इस एलान के तुरतं बाद मंगलवार को केंद्र सरकार की तरफ से जानकारी दी गई कि इसके लिए केंद्र सरकार ने 74 करोड़ वैक्सीन डोज एडवांस में बुक कर ली है।

कहां से मिलेंगी 74 करोड़ वैक्सीन की खुराक

  • केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया को कोविशील्ड की 25 करोड़ डोज और भारत बायोटेक को कोवाक्सीन की 19 करोड़ डोज का ऑर्डर दिया है।
  • कोरोना टीकों की ये 44 करोड़ (25+19 करोड़) डोज जून से शुरू होकर दिसंबर तक उपलब्ध होंगी।
  • दोनों कोविड टीकों की खरीद के लिए 30 फीसदी रकम एडवांस में ही सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक को जारी कर दी गई है।
  • स्वास्थ्य मंत्रालय ने हैदराबाद स्थित वैक्सीन निर्माता बायोलॉजिकल-ई के साथ 30 करोड़ वैक्सीन डोज आरक्षित करने की व्यवस्था की है। इसके लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने 1500 करोड़ रुपये का अग्रिम भुगतान मेसर्स बायोलॉजिकल-ई को कर दिया है। बायोलॉजिकल-ई की वैक्सीन डोज अगस्त-दिसंबर के बीच दी जाएगी।

सरकार के मुताबिक टीकाकरण की शुरुआत से जुलाई तक सरकार को को 53.6 करोड़ डोज मिल जाएंगी और उसके बाद ये वैक्सीन आएंगी। ये वैक्सीन अगस्त से दिसंबर के बीच आएंगी।

सिर्फ तीन कंपनी है, जो इतनी वैक्सीन केंद्र सरकार को अगले कुछ महीनों में देगी। इसमें रूस की स्पुतनिक नहीं है, जिसे पहले ही मंजूरी मिल चुकी है। इसके अलावा कुछ और कोरोना की वैक्सीन है जो आने वाले दिनों में उपलब्ध होंगी जैसे जाइडस कैडिला, नोवावैक्स, जेनोवा की कोरोना वैक्सीन।

वहीं सरकार को उम्मीद है अगस्त के बाद हालात बहुत बेहतर होंगे। यानी दो-तीन महीने बाद, भारत में वैक्सीन का भंडार होगा। भारत को अगस्त से दिसंबर तक के बीच तक इन कंपनियों से 216 करोड़ वैक्सीन की खुराक मिलेंगी।

कंपनी वैक्सीन खुराक की संख्या
कोविशील्ड 75 करोड़
कोवैक्सीन 55 करोड़
बायोलॉजिकल ई 30 करोड़
जाइडस कैडिला 05 करोड़
नोवावैक्स 20 करोड़
भारत बायोटेक नेजल 10 करोड़
जेनोवा 06 करोड़
स्पुतनिक वी 15.6 करोड़

इनमें वो वैक्सीन शामिल नहीं हैं, जिन्हें यूएस, यूके, जापान, यूरोपियन देश या विश्व स्वास्थ्य संगठन से इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी मिली है। यानी फाइजर, मॉडर्ना और जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन इसमें शामिल नहीं है। जब वो आएंगी तो ये संख्या 250 करोड़ के पार जाने की उम्मीद है।

प्रधानमंत्री मोदी के वैक्सीन को लेकर एलान के बाद केंद्र सरकार ने एडवाइजरी जारी की है, जो 21 जून से पूरी तरह से लागू होंगी। इसके मुताबिक, देश में वैक्सीन निर्माताओं द्वारा उत्पादित किए जा रहे टीकों का 75 फीसदी खरीद केंद्र सरकार करेगी और खरीदे गए टीके राज्यों और संघ राज्य क्षेत्रों को मुफ्त दिए जाएंगे। वहीं राज्यों की जनसंख्या, संक्रमितों की संख्या और टीकाकरण की रफ्तार के हिसाब से केंद्र सरकार वैक्सीन देगी।

पीएम के एलान के बाद अब सारी जिम्मेदारी केंद्र सरकार की है, तो सरकार ने अपनी पूरी तैयारी कर ली है, ताकि वैसा हाल न हो जैसा एक मई के बाद राज्यों में 18 से 44 साल के आयु वर्ग के टीकाकरण के दौरान हुआ। गौरतलब है कि इस दौरान कई राज्यों को वैक्सीन की कमी का सामना करना पड़, जिसकी वजह से राज्य को कई टीकाकरण केंद्र बंद करने पड़े थे।

मुफ्त टीकों और राशन के लिए केंद्र करेगा 1.45 लाख करोड़ रुपये खर्च
कोरोना की दूसरी लहर के बीच देश के 18-44 आयु वर्ग के लोगों को मुफ्त टीका और गरीबों को मुफ्त राशन उपलब्ध कराने के लिए केंद्र सरकार को 1.45 लाख करोड़ रुपये से अधिक का अतिरिक्त खर्च उठाना पड़ेगा। पीएम मोदी ने देश के नाम अपने संबोधन में सोमवार को ये दो बड़े एलान किए हैं।

सूत्रों के मुताबिक वयस्कों को मुफ्त टीका मुहैया कराने के लिए सरकार को 45 से 50 हजार करोड़ रुपये तक खर्च करने पड़ेंगे। जबकि सरकार ने इस मद के लिए 35 हजार करोड़ रुपये का बजट बनाया था। इसी तरह देश के 80 करोड़ लोगों को दीवाली तक हर महीने 5 किलो गेहूं या चावल और एक किलो दाल देने में सरकार को 1.10 से 1.30 लाख करोड़ रुपये खर्च करने पड़ेंगे।

इस तरह कुल खर्च 1.45 लाख करोड़ से अधिक हो सकता है। सूत्रों ने संकेत दिया है कि सरकार को आरबीआई से लाभांश के तौर पर अनुमानित 99,122 करोड़ से अधिक राशि प्राप्त हुई होगी। इसके अलावा पेट्रोल और डीजल पर कर से अभी अच्छा राजस्व मिला है। इन दोनों के दम पर सरकार मुफ्त टीकों और राशन का खर्च वहन कर लेगी।

Source Link

RELATED ARTICLES

सरकार ने रेलवे यात्रियों को दी बड़ी राहत, 50 प्रतिशत तक घटा दिया ट्रेनों का किराया 

नई दिल्ली।  लोकसभा चुनाव से पहले सरकार ने रेलवे यात्रियों को बड़ी राहत दी है। रेलवे द्वारा पैसेंजर ट्रेन के किरायों को प्री-कोविड स्तर...

केआइएसएस मानवतावादी सम्मान से सम्मानित किए गए माइक्रोसॉफ्ट के सह संस्थापक बिल गेट्स

भुवनेश्वर। माइक्रोसॉफ्ट के सह संस्थापक तथा वैश्विक समाज सेवी, बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन के सह-अध्यक्ष बिल गेट्स को उनके सामाजिक कार्यों के लिए...

पैसिव स्मोकिंग से शरीर को होती हैं कई हानियां, सिगरेट पीने वालों से बनाएं दूरी

सभी जानते हैं कि धूम्रपान करना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है। इसके साथ ही पैसिव स्मोकिंग (धूम्रपान करने वालों के बीच रहकर न...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

सहायक समाज कल्याण अधिकारियों व छात्रावास अधीक्षकों को मिले नियुक्ति-पत्र

अपनी सेवाओं के माध्यम से अंत्योदय के सिद्धांत को पूर्ण करें - मुख्यमंत्री प्रतिभावान एवं क्षमतावान अभ्यर्थी ही परीक्षाओं में हो रहे सफल- मुख्यमंत्री देहरादून। मुख्यमंत्री...

सेब कास्तकरों का एक माह के भीतर शेष भुगतान किया जाएगा

कृषि मंत्री गणेश जोशी ने अधिकारियों को दिए निर्देश देहरादून। प्रदेश के कृषि एवं कृषक कल्याण मंत्री गणेश जोशी से आज हाथीबड़कला स्थित उनके कैंप...

प्रकृति से जुड़ने का संदेश देती है पुष्प प्रदर्शनी- महाराज

राज भवन में महाराज ने किया बसंतोत्सव में प्रतिभाग देहरादून। राज भवन में बसंतोत्सव 2024 "संकल्प से सिद्धि, फूलों से समृद्धि" तीन दिवसीय पुष्प प्रदर्शनी...

सीएचसी चौण्ड प्रकरण में इलाज नहीं मिलने पर कार्यवाही के निर्देश

स्वास्थ्य महानिदेशक को लापरवाह चिकित्सकों पर एक्शन लेने के निर्देश कहा, प्रत्येक अस्पताल में चिकित्सकों की लगेगी बायोमेट्रिक उपस्थिति देहरादून। टिहरी के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र चौण्ड...

केएल राहुल इंग्लैंड के खिलाफ पांचवें टेस्ट मैच से हुए बाहर  

बीसीसीआई ने की पुष्टि नई दिल्ली।  भारत के स्टार बल्लेबाज केएल राहुल इंग्लैंड के खिलाफ पांचवें टेस्ट से भी बाहर हो गए हैं। बीसीसीआई ने...

शासन ने उपनल कर्मचारियों का 10 प्रतिशत मानदेय बढ़ाने के बाद दी एक ओर राहत भरी खबर 

देहरादून। शासन ने उपनल कर्मचारियों का 10 प्रतिशत मानदेय बढ़ाने के बाद अब हटाए गए उपनल कर्मचारियों को एक महीने के भीतर फिर से...

कियारा आडवाणी डॉन 3 में लगाएंगी एक्शन का तड़का, रणवीर सिंह के साथ जमेगी जोड़ी

डॉन 3 के निर्माता, रितेश सिधवानी और फरहान अख्तर ने कल एक बड़ी घोषणा की तरफ इशारा करते हुए दर्शकों को बड़ा सरप्राइज़ दिया...

उत्तराखंड विधानसभा में चार दिन के बजट सत्र में ये विधेयक हुए पारित

देहरादून। उत्तराखंड विधानसभा में चार दिन के बजट सत्र में सदन की कार्यवाही 28 घंटे 25 मिनट चली। सदन में कुल 304 प्राप्त प्रश्नों...

ढाका में 7 मंजिला रेस्तरां में लगी आग, 43 की मौत; दर्जनों घायल

ढाका। बांग्लादेश के ढाका में एक 7 मंजिला इमारत में आग लगने से कम से कम 43 लोगों की मौत हो गई है। स्थानीय...

नाबालिग लड़की का संदिग्ध परिस्थितियों में मिला शव 

यशपाल आर्य के साथ ही कांग्रेस के विधायकों ने थाने में किया हंगामा आरोपियों को तत्काल गिरफ्तार कर कार्रवाई की मांग की देहरादून। रेसकोर्स में एक...

Recent Comments