Home ब्लॉग यह कैसी सोच, थम नहीं रही दरिंदगी

यह कैसी सोच, थम नहीं रही दरिंदगी

देश की राजधानी दिल्ली के कस्तूरबा नगर में ऐन गणतंत्र दिवस के दिन हुई गैंगरेप की घटना के ब्योरे सन्नाटे में डाल देने वाले हैं। हालांकि दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल के दखल के बाद सभी दलों के लोगों ने इस मसले को उठाया और पुलिस ने भी देर किए बगैर 11 लोगों को गिरफ्तार कर लिया, लेकिन उससे पहले ही घटना से जुड़े विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो चुके थे। इन विडियो और पूरी घटना की पुलिस जांच कर रही है, लेकिन जो शुरुआती तथ्य सामने आ रहे हैं वे रोंगटे खड़े कर देने वाले हैं।
बताया गया है कि विक्टिम 20 साल की शादीशुदा महिला है, जो एक बच्चे की मां है। पिता की बीमारी के चलते वह मायके में रह रही थी, जहां पड़ोस में रहने वाले एक परिवार का 16 साल का एक लडक़ा उसकी ओर आकर्षित हो गया था। उसके प्रस्तावों को जब इस लडक़ी ने ठुकरा दिया तो पिछले साल नवंबर महीने में उसने खुदकुशी कर ली। आरोपी परिवार ने अपने घर के बच्चे की मौत के लिए इस महिला को जिम्मेदार माना। गणतंत्र दिवस के दिन हुई घटना उसे सबक सिखाने के मकसद से अंजाम दी गई बताई जा रही है। आश्चर्य नहीं कि इस पूरी घटना में परिवार की महिलाएं बढ़-चढ़ कर शामिल रहीं। जिन नौ लोगों को गिरफ्तार किया गया है, उनमें सात इसी परिवार की महिलाएं हैं।

आरोप है कि विक्टिम के साथ गैंगरेप के दौरान कमरे में कई महिलाएं मौजूद थीं, जो रेपिस्टों को और ज्यादा क्रूरता के लिए उकसा रही थीं। वायरल हुए एक विडियो में भी विक्टिम के मुंह पर कालिख पोत, उसे जूतों की माला पहनाकर गलियों में घुमाते हुए महिलाएं ही दिख रही हैं। इस घृणित प्रकरण के आरोपियों को लेकर गुस्सा और उनके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की मांग बिल्कुल जायज है, लेकिन भूलना नहीं चाहिए कि यह प्रकरण हमारे समाज में प्रचलित पारिवारिक संस्कारों में बैठी पितृसत्तात्मक सोच को बड़ी निर्ममता से उजागर करती है।

गौर करने की बात यह है कि न सिर्फ आरोपी परिवार अपने बच्चे की खुदकुशी के लिए उस शादीशुदा महिला की ‘ना’ को जिम्मेदार मान रहा था बल्कि वह यह भी मानता था कि आसपास के तमाम लोगों की भावनाएं उसके साथ हैं। वरना उसे गलियों में घुमाने नहीं ले जाता। उस दौरान भीड़ का जैसा व्यवहार रहा, उससे साबित हुआ कि आरोपी परिवार कुछ गलत नहीं समझ रहा था। कौन मानेगा कि यह वही दिल्ली है, जो करीब दस साल पहले निर्भया के साथ हुई निर्ममता पर इस कदर विह्वल हो गई थी कि उसे इंसाफ दिलाने सडक़ों पर निकल आई थी। जाहिर है, समाजिक चेतना के विकास की राह सीधी रेखा जैसी नहीं होती। रेप जैसे अपराधों पर अंकुश लगाने के लिए रेपिस्टों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने और पुलिस व्यवस्था को और चाक-चौबंद करने की मांग के साथ समाज के मन-मिजाज को दुरुस्त करने का कठिन काम भी हाथ में लेना होगा।

RELATED ARTICLES

मानव बुद्धि: पहले पंखज्फिर पिंजरे!

हरिशंकर व्यास त्रासद सत्य है जो पृथ्वी के आठ अरब लोग अपना स्वत्व छोड़ते हुए घोषणा करते हैं कि हम फलां-फलां बाड़े (195 देश) के...

सबको पसंद है राजद्रोह कानून

अजीत द्विवेदी भारतीय दंड संहिता की धारा 124ए यानी राजद्रोह कानून पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला ऐतिहासिक है लेकिन यह अंतिम जीत नहीं है। यह...

विश्व-विमर्श श्रीलंका : सियासत, विक्रमसिंघे और कांटों का ताज

डॉ. सुधीर सक्सेना अपरान्ह करीब पौने दो बजे कोलंबो से वरिष्ठ राजनयिक व वकील शरत कोनगहगे ने खबर दी-‘रनिल विक्रमसिंघे सायं साढ़े छह बजे श्रीलंका...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

चारधाम यात्रा में अव्यवस्थाओं पर भड़के यशपाल आर्य, बोले सिस्टम के नाकारापन के कारण पूरे देश में उत्तराखंड की छवि हो रही खराब

हल्द्वानी। चारधाम यात्रा की व्यवस्थाओं को लेकर नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने सरकार पर सवाल उठाए। कहा कि सरकार यात्रियों को बुनियादी सुविधाएं तक...

देहरादून पहुंचा पहाड़ का रसीला खट्टा मीठा फल काफल, जानिए इसके फायदे

देहरादून। सीजन के अंतिम दिनों में ही सही पहाड़ का रसीला काफल देहरादून पहुंच गया है। यह पहाड़ी फल कैंसर समेत कई बीमारियों की रोकथाम...

फर्जी राशन कार्ड धारकों के ख़िलाफ़ खाद्य विभाग की महिमा, “अपात्र को ना और पात्र को हां”, 1967 टोल फ्री नंबर पर करें शिकायत

देहरादून। खाद नागरिक आपूर्ती व उपभोगता मामले मंत्री रेखा आर्या ने आज बनबसा से वर्चुअल माध्यम से खाद्य विभाग की समीक्षा बैठक ली। बैठक में...

उत्तराखंड का आम बजट बनाने में आप भी दीजिये धामी सरकार को अपने अहम सुझाव, जानिए कैसे

देहरादून । उत्तराखंड सरकार आम बजट को लेकर राज्य के हर वर्ग से सुझाव लेगी। इसके लिए सरकार के स्तर से ईमेल आईडी जारी...

“मोक्ष” पर सियासत जारी, राजीव महर्षि ने लगाया भाजपा पर सनातन धर्म के अपमान का आरोप

देहरादून। चारधाम यात्रा पर लोग मोक्ष प्राप्ति के लिये आते हैं बयान के बाद उत्तराखंड की सियासत में उबाल है। भाजपा प्रवक्ता के बयान...

बद्रीनाथ हाईवे हनुमानचट्टी के बलदोड़ा में पत्थर गिरने से मार्ग हुआ अवरुध्द, विभिन्न स्थानों पर ठहरे यात्री

देहरादून। चमोली में बीती देर रात को तेज बारिश के चलते बद्रीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग के हनुमानचट्टी से आगे बलदोड़ा में चट्टान से पत्थर गिरने और...

शिक्षा विभाग में अपनी ढपली अपना राग, चहेतों के लिए एक्ट दरकिनार, बीमार शिक्षक कर रहे तबादलों का इंतजार

देहरादून। शिक्षा विभाग में शून्य सत्र के बावजूद पूरे साल तबादलों एवं शिक्षकों की संबद्धता का खेल चलता रहा, लेकिन बीमार शिक्षक तबादले का...

चारधाम यात्रा :- केदारनाथ और यमुनोत्री धाम में 31 मई तक पंजीकरण फुल, अब तक 2 लाख से अधिक श्रद्धालु कर चुके दर्शन

देहरादून। केदारनाथ और यमुनोत्री धाम में दर्शन करने के लिए 31 मई तक वहन क्षमता के अनुसार पंजीकरण फुल हो चुके हैं, जबकि बदरीनाथ...

विदेशी मुद्रा भंडार 1.8 अरब डॉलर घटकर 595.9 अरब डॉलर पर

मुंबई ।  देश का विदेशी मुद्रा भंडार 06 मई को समाप्त सप्ताह में लगातार नौवें सप्ताह गिरता हुआ 1.8 अरब डॉलर कम होकर 595.9 अरब...

जानिए गर्मी में दिन में कितनी बार धोना चाहिए चेहरा, बनी रहेगी नमी

गर्मी में ताजगी बने रहने के लिए लोग दिन में कई बार चेहरा धोते हैं। कुछ लोगों को लगता है कि बार-बार फेस वॉश...

Recent Comments