Home राष्ट्रीय लॉकडाउन का असर: वर्क फ्रॉम होम में काम के दबाव से उलझ...

लॉकडाउन का असर: वर्क फ्रॉम होम में काम के दबाव से उलझ रही रिश्तों की डोर

कोरोना लॉकडाउन में करीब डेढ़ साल से वर्क फ्रॉम होम के जरिये दफ्तर का दबाव घर पहुंचकर रिश्तों की दीवार में दरारें डालने लगा है। ऐसे घर जहां पति-पत्नी में से एक ही काम करता है वहां रिश्तों की डोर अधिक उलझ रही है। इससे जीवनसाथी और बच्चों के साथ संबंधों में चिड़चिड़ापन आ रहा है। नतीजतन भावनात्मक सलाह लेने वालों में पुरुषों की संख्या बढ़ रही है।

पुणे में लॉकडाउन के दौरान घरेलू विवाद को लेकर महिलाओं, बच्चों व वरिष्ठ नागरिकों की बढ़ती शिकायतें सुलझाने के लिए खुले ‘भरोसा सेल’ के मुताबिक पिछले साल जहां महिलाओं की शिकायतें अधिक थीं दूसरी लहर में पुरुषों की शिकायतें बढ़ी हैं। उनके काम के तनाव में जीवनसाथी की उनसे मदद की उम्मीद उनके रिश्तों को बिगाड़ रही है। ऐसे में उनके लिए इस तनाव से बाहर आना मुश्किल हो रहा है।

उन्होंने बताया कि वर्क फ्रॉम होम में अमूमन काम के घंटे बढ़ जाते हैं। इसके  अलावा ऑफिस की तरह सीटिंग नहीं होना या आरामदायक उपयुक्त फर्नीचर नहीं होने से शारीरिक जटिलताएं आती हैं। इन सब के बीच जब जीवनसाथी के साथ एक दूसरे को समझने में चूक होती है तो रिश्तों में इसका असर होता है।

पुरुषों की दलील, पत्नी काम का दबाव नहीं समझती
भरोसा सेल में काउंसिलिंग करने वाली वकील प्रार्थना बताती हैं कि पुरुषों की सबसे मुख्य शिकायत यह होती है कि उनकी पत्नी काम के दबाव को समझना ही नहीं चाहती है। उन्हें लगता है कि घर से काम करते वक्त हमें उनकी मदद भी करनी चाहिए। ऐसा नहीं करने पर तनाव की स्थिति बनती है। अधिकतर पुरुषों का मानना है कि उनकी पत्नी को लगता है कि वे कुछ खास काम नहीं करते बस कंप्यूटर के आगे बैठे रहते हैं।

कामकाजी दंपती अधिक समझते हैं काम का तनाव
प्रार्थना के मुताबिक जिन घरों में पति पत्नी दोनों पेशेवर हैं वहां मुश्किलें कम हैं। दोनों जीवनसाथी एक दूजे के काम के तनाव को भलीभांति समझते हैं और इनके बीच आपसी तालमेल भी बैठ जाता है। इससे वर्क फ्रॉम होम में इन्हें अधिक मुश्किलों का सामना नहीं करना पड़ता। उलटा समय मिलने पर ये एक दूसरे को बेहतर महसूस कराने की भी कोशिश करते हैं।

लॉकडाउन में महिलाएं हुईं थी ज्यादा परेशान 
राष्ट्रीय लॉकडाउन के दौरान पिछले साल महिलाओं की कई तरह की शिकायतें आईं थी। इसमें तनाव, मनोवैज्ञानिक मुश्किलें, घरेलू हिंसा, भावनात्मक तनाव समेत कई मुद्दे शामिल थे।

तनाव की इतनी शिकायतें आईं
2074 कुल शिकायतें आईं 2020 में पुणे की भरोसा सेल के पास
1283 इनमें महिलाओं की थीं और 791 पुरुषो की
266 शिकायतें पुरुषों ने कीं 2021 के चार महीनों में

ऐसे दूर करें तनाव 
एक दूसरे को सहानुभूति देने का प्रयास करें
अपने जीवनसाथी की प्रशंसा करें
एक दूसरे के काम की सराहना करें
सामने वाले को महसूस करायें कि उसके सहयोग के बिना आपका काम कर पाना मुश्किल है

Source Link

RELATED ARTICLES

प्रधानमंत्री मोदी देंगे फिर एकबार योगी सरकार को मंत्र, 18 जनवरी को वाराणसी के बीजेपी कार्यकर्ताओं से करेंगे संवाद

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 18 जनवरी को उत्तर प्रदेश के वाराणसी के भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) कार्यकर्ताओं से संवाद करेंगे। निर्वाचन आयोग द्वारा...

सेना दिवस, सीडीएस बिपिन रावत को याद कर भावुक हुए देशवासी

भारतीय सेना किसी भी मामले में किसी से कम नहीं है।आज भारतीय सेना अपना 74वां सेना दिवस मना रही है।  सेना दिवस, भारत में...

संसद का पहला बजट सत्र 31 जनवरी से होगा शुरू, दूसरा सत्र चुनाव के बाद 

देश। संसद का बजट सत्र 31 जनवरी से शुरू होगा। एक फरवरी को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आम बजट पेश करेंगी। संसदीय मामलों की केंद्रीय...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

खुद का नहीं तो पत्नी को टिकट दिलाने की कोशिश में जुटे विधायक कर्णवाल : डाला दिल्ली में डेरा

रुड़की। झबरेड़ा से टिकट बचाने के लिए भाजपा के सीटिंग विधायक देशराज कर्णवाल ने दिल्ली में डेरा डाल दिया है। पार्टी ने उन्हें भगवानपुर...

 नही थम रहा कोरोना का कहर, 3295 नए मामलों के साथ ही आज 04 मरीजो की हुई मौत

देहरादून। उत्तराखंड में वैश्विक महामारी कोविड-19 का कहर जारी है ,आज राज्य के सभी 13 जनपदों में कोरोना वायरस के 3295 नये मामले सामने आए...

त्रिवेंद्र सिंह रावत से भिड़ने वाली शिक्षिका ने थामा यूकेडी का दामन 

अर्जुन सिंह इंडिया टाइम्स: रविवार को उत्तराखंड क्रांति दल संसदीय बोर्ड अध्यक्ष के नेतृत्व में उतरा पन्त बहुगुणा ने दल का दामन थामने पर...

प्रेशर पॉलिटिक्स के महारथी अब खुद हुए अंडर प्रेशर

देहरादून। कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत के भाजपा से 6 साल के लिए बर्खास्त होने के बाद देहरादून से लेकर दिल्ली तक यही चर्चा...

उत्तराखंड में भाजपा ने दिया कांग्रेस को बड़ा झटका, महिला कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सरिता आर्य भाजपा में हुई शामिल

उत्तराखंड के राजनीतिक की बड़ी खबर, देहरादून: उत्तराखंड महिला कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सरिता आर्य पहुंची बीजेपी प्रदेश कार्यालय में, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने...

जॉगिंग की शुरूआत करने वाले हैं तो इन बातों का रखें ध्यान

जॉगिंग एक तरह की एक्सरसाइज है, जिसमें व्यक्ति को धीमी गति में दौडऩा होता है। इस एक्सरसाइज को रोजाना करने से आपको कई तरह...

एकता कपूर के शो नागिन 6 में तेजस्वी प्रकाश को लाने की तैयारी

बिग बॉस 15 में एंट्री करने के बाद अभिनेत्री तेजस्वी प्रकाश की लोकप्रियता काफी बढ़ गई है। उन्हें दर्शकों का भरपूर प्यार मिल रहा...

बिना नक्शे-कैलेंडर के भागता वक्त

शमीम शर्मा आज मेरे ज़हन में उस नौजवान की छवि उभर रही है जो सडक़ किनारे नक्शे और कैलेंडरों के बंडल लिये बैठा रहा करता।...

उत्तराखंड बीजेपी ने उठाया सख्त कदम, हरक सिंह रावत को मंत्रिमंडल समेत बीजेपी से किया 6 साल के लिये निष्कासित

देहरादून । भाजपा ने कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत को 6 वर्ष के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया है। इसके साथ ही हरक...

85 नए केस के साथ 93 हुआ उत्तराखंड में ओमिक्रॉन संक्रमितों को आंकड़ा

देहरादून। उत्तराखंड में कोरोना का ओमिक्रॉन वेरिएंट तेजी से फैल रहा है। रविवार को आई 159 सैंपलों की जीनोम सीक्वेसिंग रिपोर्ट में से 54...

Recent Comments