Home उत्तराखंड खटीमा को ऐतिहासिक सौगात देंगे सीएम धामी

खटीमा को ऐतिहासिक सौगात देंगे सीएम धामी

‘सुरई इकोटूरिज्म जोन’ में जंगल सफारी और ‘ककरा क्रोकोडाइल ट्रेल’ का करेंगे लोकार्पण

पहली बार नेशनल पार्क और बायोस्फीयर रिजर्व क्षेत्र से बाहर अन्य क्षेत्र में संचालित होगी जंगल सफारी

मुख्यमंत्री के विधानसभा क्षेत्र खटीमा से की जा रही है ‘सी.एम. यंग ईकोप्रिन्योर स्कीम’ के क्रियान्वयन की शुरुआत

धामी सरकार की अभिनव पहल से स्थानीय लोगों को वनों, वन क्षेत्रों और वन्य जीवों से जुड़कर मिलेगा रोजगार

खटीमा। वर्ष 2021 के जाते-जाते प्रदेश की धामी सरकार खटीमा विधानसभा क्षेत्र को एक बड़ी सौगात देने जा रही है। 29 दिसम्बर को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी खटीमा में ‘सुरई इकोटूरिज्म जोन’ और ‘ककरा क्रोकोडाइल ट्रेल’ का लोकार्पण करेंगे। ‘सुरई इकोटूरिज्म जोन’ प्रदेश का पहला ऐसा इकोटूरिज्म जोन होगा जहां पर्यटक जंगल सफारी का लुत्फ उठा सकेंगे। अब तक हमारे प्रदेश में सिर्फ नेशनल पार्क और बायोस्फीयर रिजर्व (संरक्षित क्षेत्र) में ही जंगल सफारी का चलन रहा है। इसके अलावा ‘ककरा क्रोकोडाइल ट्रेल’ देश का पहला क्रोकोडाइल ट्रेल है जहां पर्यटक बेहद नजदीक जाकर मगरमच्छ की खतरनाक प्रजाति ‘मार्श’ का सुरक्षित दीदार कर सकेंगे। यह दोनों योजनाएं मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की पूर्व में घोषित ‘सी.एम. यंग ईकोप्रिन्योर स्कीम’ से जुड़ी हुई हैं जिसके तहत उत्तराखण्ड के स्थानीय लोगों की आर्थिकी को वनों और वन्य जीवों से जोड़कर स्वरोजगार के अवसर पैदा किए जा रहे हैं। इस स्कीम के अंतर्गत 1 लाख युवाओं को ईकोप्रिन्योर बनाने का लक्ष्य है।

तराई पूर्वी वन प्रभाग के डीएफओ संदीप कुमार ने बताया कि चारों ओर वन क्षेत्र से घिरे खटीमा के लोगों को पर्यावरण संरक्षण के साथ कैसे स्वरोजगार से जोड़ा जाए इसके लिए एक अभिनव योजना को धरातल पर उतारा जा रहा है। अब तक पर्यटन के लिहाज से पिछड़े रहे खटीमा व आसपास के क्षेत्र को पर्यटन मानचित्र में ऊंचा स्थान दिलाना इस योजना का मुख्य उद्देश्य है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की सोच है कि जैव विविधता और वन्य जीवों की मौजूदगी वाले ‘तराई पूर्वी वन प्रभाग’ को योजनाबद्ध तरीके से विकसित कर उसके सुराई वन क्षेत्र को इको टूरिज्म जोन के रूप में तब्दील किया जाए ताकि यहां के प्राकृतिक सौन्दर्य का उपयोग स्थानीय लोगों को प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रोजगार मुहैया करवाने में किया जा सके। इसी सिलसिले में पूर्व में उन्होंने ‘तराई पूर्वी वन प्रभाग’ के सुरई व आसपास के वन क्षेत्र को पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने की घोषणा (संख्या-359/2021) की थी। उसके बाद से ही वन महकमा उनकी इस घोषणा को साकार करने में जुटा हुआ है।

योजना को चार भागों में बांटकर धरातल पर उतारा जा रहा है। इनमें सुरई इकोटूरिज्म जोन, ककरा क्रोकोडाइल ट्रेल, खटीमा सिटी फॉरेस्ट और चुका प्रवासी पक्षी केन्द्र की स्थापना शामिल है। उन्होंने बताया कि सुरई इकोटूरिज्म जोन और ककरा क्रोकोडाइल ट्रेल योजना का निर्माण और विकास कार्य पूरा हो चुका है। जबकि खटीमा सिटी फॉरेस्ट और चुका प्रवासी पक्षी केन्द्र के विकास की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। मुख्यमंत्री धामी आगामी 29 दिसम्बर को सुरई इकोटूरिज्म जोन में जंगल सफारी का शुभारम्भ और ककरा क्रोकोडाइल ट्रेल का लोकार्पण करने जा रहे हैं।

सुरई इकोटूरिज्म जोन –

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने घोषणा की थी कि सुरई वनों की समृद्ध जैव विविधता को देखते हुए इसे क्षेत्र को सुरई इको टूरिज्म जोन (सुरई पारिस्थितिकी पर्यटन क्षेत्र) का स्वरूप प्रदान किया जाएगा। इसके दो लाभ होंगे पहला यह कि जनसहभागिता सुनिश्चित करते हुए जैव विविधता के धनी इसे क्षेत्र को संरक्षित किया जाएगा और दूसरा, इसके वन मार्गों को जंगल सफारी के लिए विकसित किए जाने से यहां रोजगार के अवसर भी पैदा होंगे। वन महकमे ने मुख्यमंत्री की इस घोषणा पर रात-दिन काम करते हुए सुरई वन क्षेत्र के वन मार्गों को जैव विविधता ट्रेल के रूप में विकसित कर दिया गया है। यह क्षेत्र 180 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है। जिसके सीमा में पूर्व दिशा में शारदा सागर डैंम, पश्चिम में खटीमा नगर, उत्तर में मेलाघाट रोड तथा दक्षिण में पीलीभीत टाइगर रिजर्व क्षेत्र सटा हुआ है।

दिलचस्प बात यह है कि प्राकृतिक रूप से बेहद खूबसूरत इस वन क्षेत्र में साल के वृक्षों, चारागाह और पानी की प्रचुर मात्रा में है। इन तमाम वजहों से यहां बाघों की आवाजाही बनी रहती है। इसके अलावा स्तनधारी जानवरों की लगभग 125, पक्षियों की 150 से अधिक और सरीसृपों को तकरीबन 20 प्रजातियां भी इस वन क्षेत्र में पाई जाती हैं। यहां के वन मार्गों को विकसित कर लगभग 40 किलोमीटर का ट्रेल जंगल सफारी के लिए तैयार कर लिया गया है, जिसमें जिप्सी में बैठकर पर्यटक दुर्लभ वन्य जीवों (रॉयल बंगाल टाइगर, भालू, चीतल, सांभर, काकड़, पैंगोलिन, कोरल सांप, पांढा आदि) का दीदार करने के साथ ही सुरम्य जंगलों, घास के मैदानों, प्राचीन शारदा नहर और सुन्दर तालाबों का लुत्फ उठा सकेंगे।

ककरा क्रोकोडाइल ट्रेल –

सुरई इकोटूरिज्म जोन की पश्चिमी सीमा पर ककरा नाला स्थित है। यह नाला क्रोकोडाइल ( मार्श मगरमच्छ) का प्राकृतिक वासस्थल है। मीठे पानी के स्रोतों में पाई जाने वाली मगरमच्छ की यह प्रजाति भूटान और म्यांमार जैसे तमाम देशों में विलुप्त हो चुकी है। अंडा देने वाली यह प्रजाति बेहद खतरनाक मानी जाती है। मौजूदा समय में इस नाले में 100 से अधिक मार्श मगरमच्छ हैं। पर्यटक इन मगरमच्छों को आसानी से दीदार कर सकें इसके लिए 4 किलोमीटर लम्बे नाले को चैनलिंग फैंसिंग करके ‘ककरा क्रोकोडाइल ट्रेल’ के रूप में विकसित किया गया है। यह राज्य का पहला क्रोकोडाइल ट्रेल है। ट्रेल में तीन व्यू प्वाइंट और कई वॉच टॉवर बनाए गए हैं ताकि मगरमच्छों का सुरक्षित तरीके से नजदीक से दीदार हो सके।

RELATED ARTICLES

आ गई हस्ताक्षरित अधिकृत कॉंग्रेस की दूसरी सूची, पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत इस सीट से लड़ेंगे चुनाव,

देहरादून:  आज कोंग्रेस ने 11 उम्मीदवारो कि दूसरी सूची जारी कर दी है। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत रामनगर से औऱ अनुकृति गुसाईं को लैंसडाउन...

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मोदी सरकार पर बोला हमला, कहा उत्तराखंड में सरकार बनी तो 500 से कम में देंगे घरेलू गैस...

उत्तराखंड कांग्रेस कमेटी का कैंपेन थीम, कैंपेन सांग और उत्तराखंड स्वभिमान चारधाम, चार काम के विमोचन कार्यक्रम में देहरादून पहुंचे थे भूपेश बघेल देहरादून। छत्तीसगढ़...

जिला सड़क सुरक्षा समिति की हुई बैठक

नई टिहरी। जिला मजिस्ट्रेट व अध्यक्ष जिला सड़क सुरक्षा समिति इवा श्रीवास्तव ने विकास भवन सभागार में जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक ली।...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

ऑनलाइन लर्निंग के दौरान बच्चों को स्वस्थ रखने के लिए अपनाएं ये तरीके

जहां कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण कई ऑफिस ने अपने कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम दे रखा है। वहीं, कई स्कूल ने भी...

नेहा कक्कड़ पर भी चढ़ा फिल्म पुष्प का जादू, रेत पर बैठकर किया डांस

मशहूर सिंगर नेहा कक्कड़ का एक वीडियो इस समय तेजी से वायरल हो रहा है। वैसे नेहा ऐसी सिंगर हैं जिन्हे सोशल मीडिया सेंसेशन...

आरक्षण और योग्यता

नीट पीजी परीक्षा में आरक्षण को दो सप्ताह पूर्व झंडी दे चुके सुप्रीम कोर्ट ने इस फैसले की तार्किक व्याख्या व्यापक संदर्भों में की...

आ गई हस्ताक्षरित अधिकृत कॉंग्रेस की दूसरी सूची, पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत इस सीट से लड़ेंगे चुनाव,

देहरादून:  आज कोंग्रेस ने 11 उम्मीदवारो कि दूसरी सूची जारी कर दी है। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत रामनगर से औऱ अनुकृति गुसाईं को लैंसडाउन...

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मोदी सरकार पर बोला हमला, कहा उत्तराखंड में सरकार बनी तो 500 से कम में देंगे घरेलू गैस...

उत्तराखंड कांग्रेस कमेटी का कैंपेन थीम, कैंपेन सांग और उत्तराखंड स्वभिमान चारधाम, चार काम के विमोचन कार्यक्रम में देहरादून पहुंचे थे भूपेश बघेल देहरादून। छत्तीसगढ़...

जिला सड़क सुरक्षा समिति की हुई बैठक

नई टिहरी। जिला मजिस्ट्रेट व अध्यक्ष जिला सड़क सुरक्षा समिति इवा श्रीवास्तव ने विकास भवन सभागार में जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक ली।...

खुलासा : अमेरिका के अफगान में छूटे हथियार पकिस्तान को बेच रहा तालिवान

कश्मीर। पाकिस्तानी के आतंकी गिरोह अपने को मजबूत व दहशत फैलाने से कभी चुकते नहीं है। अब खुद को मजबूत बनाने के लिए पाकिस्तानी गिरोह...

गणतन्त्र दिवस से पूर्व सुप्रीम कोर्ट को आया अज्ञात फोन, दिल्ली में कश्मीरी झंडा फहराने की दी धमकी

दिल्ली। गणतंत्र दिवस को लेक सुरक्षा बल और ज्यादा सतर्क हो गया है। सीमाओं पर हो रही आतंकी हलचलों के बाद अब सुप्रीम कोर्ट के...

खुशखबर- 12वीं बाद भारतीय सेना के तकनीकी कोर में शामिल होने के लिए आवेदन शुरू

दिल्ली। भारतीय सेना में शामिल होना हर युवा का सबसे बड़ा सपना होता है। जिसकी तैय्यारी करने में वह जुटा रहता रहता है। युवाओ के...

जोमेटो के गिरते भाव से निवेशको को 26000करोड़ का नुक्सान , पेटीएम के भी कम हुए शेयर

दिल्ली। ऑनलाइन फ़ूड डिलीवर करने में जोमेटो सबी पसंद बना था। लेकिन अब यह घाटा झेलने को मजबूर है।  जुलाई 2021 में सूचीबद्ध होने के...

Recent Comments